गोपालगंज: मनरेगा कार्य में धांधली के आरोप में तत्कालीन कनीय अभियंता चयनमुक्त

0

पूर्व मुखिया की शिकायत के बाद सारण उप विकास आयुक्त ने की कार्रवाई

गोपालगंज: मनरेगा कार्य में धांधली भोरे प्रखंड में पदस्थापित मनरेगा विभाग के तत्कालीन कनीय अभियंता को भारी पड़ी. सारण के उप विकास आयुक्त आर सज्जन कुमार ने मामले में कार्रवाई करते हुए, आरोपी कनीय अभियंता को चयन मुक्त करने का आदेश दिया है। बता दें कि भोरे प्रखंड क्षेत्र के चकरवां खास पंचायत के पूर्व मुखिया रामाशंकर चौरसिया ने ग्रामीण विकास विभाग को पत्र लिखकर पंचायत के वर्तमान मुखिया विजय तिवारी एवं प्रखंड के मनरेगा पीओ प्रकाश कुमार श्रीवास्तव के विरुद्ध विधायक निधि एवं सांसद निधि से कराए गए, मिट्टीकरण व ईट्टीकरण के कार्यों को, पुनः मनरेगा योजना में दिखाकर बिना कार्य कराए मजदूरी व सामग्री का भुगतान कराए जाने का आरोप लगाया था। जिस पर संज्ञान लेते हुए ग्रामीण विकास विभाग ने उक्त आरोपों की जांच के लिए जांच दल का गठन किया था। जांच दल ने मामले की जांच करते हुए उक्त आरोप से जुड़े सभी संबंधित पक्षों को नोटिस देकर जवाब मांगा था। जांच टीम को प्राप्त साक्ष्य एवं उत्तर के आधार पर टीम ने प्राक्कलन तैयार करने वाले तत्कालीन कनीय अभियंता जय प्रकाश चौधरी को दोषी पाया. जिसके बाद उप विकास आयुक्त आर सज्जन कुमार ने आदेश जारी कर तत्कालीन कनीय अभियंता को चयनमुक्त कर दिया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal