जनता दरबार: बुजुर्ग फरियादी ने जनता दरबार में रखी ऐसी मांग कि सीएम हंसी नही रोक पाए

0

पटना: सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जनता दरबार में पहुंचे एक बुजुर्ग फरियादी ने ऐसी अजीबोगरीब मांग रखी कि मुख्यमंत्री अपनी हंसी नहीं रोक पाए। दरअसल गोपालगंज के एक गांव से पटना पहुंचे एक रिटायर्ड शिक्षक ने सीएम से कहा कि उनके गांव को उत्तर प्रदेश में शामिल करा दिया जाए। सीएम नीतीश कुमार के सामने इतने दिनों के कार्यकाल में किसी ने ऐसी मांग रही रखी थी। इस वजह से बुजुर्ग की बात सुनते ही सीएम हंस पड़े।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ad-mukhiya

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर से करीब है गांव

मामला कुछ ऐसा है कि गोपालगंज से एक इंटर कॉलेज के रिटायर्ड प्रिंसिपल योगेंद्र मिश्र सोमवार को मुख्यमंत्री के जनता दरबार में आए थे। प्रक्रिया पूरी करने के बाद जब वे सीएम के सामने पहुंचे तो सीएम ने उनसे अपनी बात रखने को कहा। बुजुर्ग शिक्षक ने कहा कि उनका गांव उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिला से मात्र 1किलोमीटर की दूरी पर है जबकि गोपालगंज जिला मुख्यालय से ज्यादा दूर है। इसलिए उनके गांव को बिहार के बजाय उत्तर प्रदेश में शामिल करा दिया जाए क्योंकि वहां की भौगोलिक स्थिति की यही मांग है। इस बात पर मुख्यमंत्री हंसने लगे। किसी को यह समझ में नहीं आया की इसका क्या हल निकाला जाए। अंत में मुख्यमंत्री ने बुजुर्ग शिक्षक को पदाधिकारियों के पास भेज दिया।

समाजसेवा करते हैं बुजुर्ग शिक्षक

बुजुर्ग शिक्षक योगेंद्र मिश्र ने कहा कि रिटायरमेंट के बाद से वे समाज सेवा करते आ रहे हैं। वे इसके लिए अपने पेंशन के तौर पर मिली राशि खर्च करते हैं। इस क्रम में उन्हें अपने जिला मुख्यालय आने जाने में परेशानी होती है। उनके गांव की भौगोलिक स्थिति ऐसी है कि उसे यूपी का अंग होना चाहिए।