अपहरण है या गुमशुदगी परिजनों में बढ़ी बेचैनी, आवेदन प्राप्त होते ही जांच में जुटी पुलिस, 24 घंटे बीत जाने के बाद कोई सुराग नहीं

0

परवेज अख्तर/सीवान:
नगर थाना क्षेत्र के इस्लामिया नगर मोहल्ला से संदेहास्पद स्थिति में एक 15 वर्षीय युवक अचानक लापता हो गया। उधर लापता युवक का कहीं सुराग नहीं मिलने से परिजनों में बेचैनी बढ़ गई है। हालांकि परिजनों ने इसकी लिखित शिकायत स्थानीय थाना को दी है। उधर आवेदन प्राप्त होते ही पुलिस मामले की जांच में जुट गई। पुलिस मोबाइल तकनीकी के आधार पर अपना काम कर रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

लापता छात्र कमरुज्जमा अंसारी (15 वर्ष) बताया जा रहा है जो नूरुद्दीन अहमद अंसारी का पुत्र है। बता दें कि लापता कमरुज्जमा अंसारी मैट्रिक का छात्र है। जो मूल रूप से सिवान जिले एमएच नगर थाना क्षेत्र के पियाउर गांव का निवासी है। लेकिन वर्तमान समय में वह नगर थाने के इस्लामिया नगर मोहल्ले में अपना बना निजी घर में रहकर पढ़ाई करता था।लापता छात्र के चचेरा भाई मिस्टर वारसी ने बताया की सोमवार की दोपहर बाद किसी व्यक्ति का फोन उसके मोबाइल पर आया और वह तुरंत फोन आते ही घर से निकल गया। लेकिन वह देर शाम तक घर नहीं लौटा उधर देर शाम तक घर नहीं लौटने के बाद हमलोगों ने उसकी तलाश शुरू कर दी। लेकिन उसका कहीं अता पता नहीं चल सका।
lapata yuwak

जिससे हमलोगों की बेचैनी और बढ़ते चली गई। इसकी शिकायत हमलोगों नगर थाना पुलिस से की। जहां पुलिस मोबाइल तकनीकी के आधार पर काम करना शुरू की। उसके चचेरा भाई ने बताया कि मंगलवार के दोपहर तक उसका व्हाट्सएप नंबर चालू था। मेरे द्वारा एक मैसेज भी फॉरवर्ड की गई। मैसेज भी रिसीव हुआ तथा उसके बाद से उसका मोबाइल स्विच ऑफ जा रहा था। जबकि पुलिस द्वारा बताई जा रही है कि उसका नेटवर्क आसपास के इलाकों में ही काम कर रहा है। पुलिस द्वारा आज भी बताया गया की बीच में एक बार उसका नेटवर्क हुसैनगंज थाना क्षेत्र के छपिया बुजुर्ग बता रहा था।

पुलिस द्वारा लोकेशन के संदर्भ में बताए जाने के बाद परिजनों की और बेचैनी बढ़ गई है परिजनों ने किसी अनहोनी की आशंका जता रहे हैं। बहरहाल चाहे जो हो अपहरण है या गुमशुदगी ? यह पुलिस अनुसंधान के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा। लेकिन प्रथम दृष्टया में उसके परिजन कई तरह की बातें को लेकर काफी चिंतित हैं।

उधर लापता छात्र का कही सुराग नहीं मिलने से उसके पिता नूरुद्दीन अहमद अंसारी व माँ शालमुन निशा का रोते-रोते बुरा हाल हो चूका है। जबकि इस बाबत नगर थानाध्यक्ष जय प्रकाश पंडित से पूछे जाने पर उन्होंने बताया की प्राप्त आवेदन के आधार पर मामला अंकित कर जाँच की जा रही है।