लालू यादव के लाल तेजप्रताप को गुमशुदा की तलाश, चेहरा सफेद दाढ़ी, तकिया कलाम-मितरों, कमजोरी कैमरा व फिल्मी अभिनेता

0

पटना: राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव को गुमशुदा की तलाश है। इसके लिए उन्होंने रविवार को बकायदा ट्वीट किया है। बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप ने ट्वीट करके गुमशुदा का हुलिया भी बताया है। समस्तीपुर की हसनपुर विधानसभा सीट से विधायक तेजप्रताप के ट्वीट पर कमेंट की भी बाढ़ आ गई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

tej

तेजप्रताप ने लिखा-‘रंग गेहुंआ और नाम है सिस्टम’

सदन में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के बड़े भाई तेजप्रताप ने रविवार को अपने ट्वीट में लिखा, गुमशुदा की तलाश। नाम है सिस्टम। रंग गेहुंआ है। कद 5 फीट, 6 इंच। चेहरा सफेद दाढ़ी से भरा है। तकिया कलाम है मितरों। उन्होंने लिखा कि गुमशुदा के राष्ट्रपिता मुंह में गांधी, मन में गोडसे हैं। कमजोरी कैमरा व फिल्मी अभिनेता हैं। ताकत है सफाई से झूठ बोलना। शौक है लोगों को अपना भक्त बनाना। काम धन्नासेठों की गुलामी। आदत है कमजोर को दबाना।

नीतीश सरकार पर हमलावर है राजद परिवार

बता दें कि बिहार में कोरोना के बढ़ते मामलों पर लगातार राजद परिवार राज्य की नीतीश कुमार सरकार पर हमलावर है। पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव व राबड़ी देवी, लालू यादव की बड़ी बेटी मीसा भारतीय, छोटी बेटी रोहिणी आचार्या के साथ तेजस्वी और तेजप्रताप लगातार कोरोना को लेकर बिहार की व्यवस्था पर कटाक्ष कर रहे हैं। तेजस्वी यादव पहले ही लॉकडाउन लगाने का समर्थन कर चुके हैं। तेजप्रताप भी लगातर हमला कर रहे हैं।तेजप्रताप ने लिखा था कि सुनो देश के हुक्मरान! आम लोगों के जान से ज्यादा जरूरी इस देश में कुछ भी नहीं है, तुम्हारा ‘प्रोटोकॉल’ भी नहीं। इसके पहले गृह मंत्री अमित शाह के ट्वीट पर भी तेजप्रताप कटाक्ष कर चुके हैं। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीबों को पांच किलो अनाज देने की बात पर तेजप्रताप ने अमित शाह को आड़े हाथ लिया था। उन्होंने कहा था कि अगले दो महीनों तक देश के प्रधानमंत्री समेत अपने तमाम केंद्रीय मंत्री और सांसदों की सैलरी और अन्य सुविधाओं को बंद कर दीजिए और बोलिए की पांच किलो अनाज से सभी अपना गुजारा करें।