बड़हरिया के पकड़ी सुल्तान गांव स्थित मजार शरीफ को और किया जाएगा विकसित: कमेटी

0
  • आस्था का केंद्र है हाजी हसरत अली शाह वारसी का मजार शरीफ
  • सिवान के अलावा कई जिलों से आते हैं यहां श्रद्धालु

परवेज अख्तर /सिवान:
सिवान जिले के बड़हरिया प्रखंड स्थित बहुआरा कादिर पंचायत क्षेत्र के पकड़ी सुल्तान गांव स्थित मजार शरीफ दिन पे दिन आस्था का केंद्र बनते जा रहा है।हाजी हसरत अली शाह वारसी के मजार शरीफ को और विकसित करने के लिए कमेटी के सदस्यों ने एक आपात बैठक की। बैठक के पश्चात मजार शरीफ को और विकसित करने तथा दूर दराज से आए हुए श्रद्धालुओं के कठिनाई को दूर करने के लिए विधिवत रूप से विचार-विमर्श की गई। उक्त बैठक मजार शरीफ के परिसर में कारी एमआइ साबरी चतुर्वेदी की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक के पश्चात हाजी हसरत अली वारसी ट्रस्ट के अधिकारीगण भी उपस्थित रहें।बैठक का संचालन ट्रस्ट के महासचिव सगीर आलम ने किया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

बैठक को संबोधित करते हुए कमेटी के सदर शमीम अंजुम वारसी (कोलकाता) ने अपने संबोधन में कहा कि कमेटी मजार शरीफ को  विकास और प्रगति के लिए एकदम निष्ठा पूर्वक लगी हुई है। बैठक के पश्चात मजार शरीफ कमेटी के सेक्रेटरी मो. राशिद,जेनरल सेक्रेटरी सगीर आलम वारसी,कोषाध्यक्ष सुल्तान अली,उपाध्यक्ष नूर सुल्तानी, उपसचिव नसीम अहमद,अकबर अली भुट्टू, सलाहकार कारी एमआइ साबरी चतुर्वेदी, अधिवक्ता अब्दुल हमीद आदि ने भी अपने-अपने विचार कोई विधिवत रुप से रखा।इस मौके पर कमेटी सदस्य सबरे आलम, मो. रफीक अंसारी, अख्तर अली वारसी, शम्सूल हक, आशिक़ हुसैन, अमीरुदीन खान, सेराजुल हक, मो. मुस्लिम, जमील अख्तर उर्फ भूट्टू, सेराजुद्दीन अंसारी, रहीमुद्दीन अंसारी, जमालुद्दीन अंसारी, आशिक अली, मो.वसीम अंसारी समेत अन्य लोग मौजूद रहे।