सीवान जिले के नारद कुमार फंसे गल्फ में – परिजनों का रो रो कर बुरा हाल

1
narad kumar

परवेज़ अख्तर/सीवान:- जिले के बसंतपुर प्रखंड सरेया श्रीकांत पंचायत विशनपुरा गांव निवासी श्री मोतीलाल लाल साह के युवा पुत्र नारद कुमार सऊदी में फस चुके हैं। आपकों बता दें कि नारद कुमार अपने घर की दयनीय स्थिति माली हालत सुधारने के लिए अपने देश छोड़ विदेश सऊदी अरब के रियाद शहर में जाने का फैसला किया। नतीजतन नारद कुमार को दस दिनों तक वहा की जेल में सजा भुगतनी पड़ी और कुछ दिनों बाद दोनों पक्षों ने आपसी सहमति से इस विवाद केस को खत्म कर दिया लेकिन कुछ दिन बीतने के बाद मुसीबतों का पहाड़ एक बार फिर से नारद कुमार के साथ चल पड़ी।हुआ यह कि जिसके यहां नारद कुमार अपनी नौकरी करते थे मालिक ने नारद कुमार को सैलरी देनी बंद कर दी और एक गहरी साज़िश के तहत नारद कुमार के पासपोर्ट को भी विदेश में ब्लैकलिस्टेड करवा दिया। पुरा मामला यहीं खत्म नहीं हुआ… अपने सैलरी नहीं मिलने के कारण नारद कुमार ने वहा के लेबर कोर्ट में अपील की जहां एक बार फिर से नारद कुमार को धमकी मिलने के बाद उनके द्वारा यह केस उठा लिया गया। इससे मानसिक रूप से परेशान होकर नारद कुमार ने दुतावास से भी मदत की गुहार लगाई लेकिन यहां भी नारद कुमार को सफलता नहीं मिली। वतन अपने देश भारत सीवान वापसी के लिए नारद कुमार ने सभी हरसंभव प्रयास किए लेकिन सभी प्रयास कारगर साबित नहीं हुए और विफल हो गए सभी प्रयास। वही नारद कुमार ने सोशल मीडिया का सहारा लेते हुए WhatsApp के जरिए अपने परिजनों और शुभचिंतकों से अपना दुख दर्द साझा शेयर किए हैं जल्द से जल्द अपने वतन वापसी के लिए अपने परिजनों और स्थानीय भाजपा सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल से भी इस संबंधित मुद्दों पर मदत करने की गुहार लगाई है। अब देखना यह होगा कि नारद कुमार की सकुशल घर वतन वापसी के लिए स्थानिए जिला प्रशासन और सांसद महोदय और समाजसेवी संस्थाएं इस विषय पर क्या ठोस कार्रवाई कोई कदम उठाते है और वहीं नारद कुमार के घर के सभी परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

1 टिप्पणी

Comments are closed.