बिहार में कोरोना से बचाव की नई गाइडलाइन जारी….ऑनलाइन पढ़ाई रहेगी जारी….

0

पटना: देश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन को देखते हुए बिहार में भी इसे लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है। इस बीच राज्‍य में कोरोनावायरस संक्रमण के बढ़ते नए मामलों को देखते हुए तीसरी लहर की आशंका गहरा गई है। इसके बाद बिहार सरकार ने इस महामारी से बचाव की नई गाइडलाइन जारी की है। इसके अनुसार सभी शिक्षण संस्‍थानों में आनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी। साथ ही बच्‍चों को शारीरिक दूरी के पालन व मास्‍क के उपयोग की जानकारी दी जाएगी। अभिभावकों को भी जागरूक किया जाएगा। सभी धार्मिक व सार्वजनिक आयोजन कोविड प्रोटोकोल के तहत ही होंगे। साथ विदेशों से आने वाले यात्रियों को क्वारंटीन रखा जाएगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
metra hospital

सभी सामाजिक, धार्मिक, शैक्षणिक, राजनीतिक, मनोरंजन व खेलकूद आदि के आयोजन कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत ही होंगे। सिनेमा हाल व जिम 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ही खोले जाएंगे। सार्वजनिक परिवहन के वाहनों में भीड़ पर सख्‍ती की जाएगी। ऐसे वाहनों में बगैर मास्‍क पहले व खड़े होकर यात्रा करने की अनुमति नहीं रहेगी। निजी वाहनों में भी मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है।

स्वास्थ्य विभाग प्रत्येक दिन कोरोना संक्रमण की दो लाख से अधिक जांच करेगा। जांच में लगातार वृद्धि करेगा। साथ ही एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन और राज्य की सीमा से लगने वाले जिलों में विशेष निगरानी रखी जाएगी। बिहार के सभी जिलाधिकारियों, आरक्षी अधीक्षकों और सिविल सर्जनों को ओमिक्रोन के संक्रमण के प्रसार की आशंका को देखते हुए पहले से तैयारी रखने का निर्देश दिया गया है। अस्पतालों की व्यवस्था, विशेषकर आइसीयू व आक्‍सीजन की उपलब्धता रखी जाएगी। प्रशिक्षित स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को भी तैयार रखने का निर्देश दिया गया है।

विदित हो कि बिहार में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। फिलहाल राज्‍य में कुल सक्रय मरीज 87 हैं। इनमें सबसे ज्यादा 61 सक्रिय केस पटना जिले में हैं। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना से एक मौत की पुष्टि भी की है। बीते 15 दिनों में कोरोना से पटना के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान में तीन और इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्‍थान में एक की मौत हो चुकी है।