कुख्यात नक्सली गिरफ्तार, IB की विशेष टीम की कार्रवाई, कई मामलों में पुलिस को थी तलाश

0

पटना: रोहतास थाना क्षेत्र के कैमूर पहाड़ी के नौहट्टा जंगल से कुख्यात नक्सली नेता विजय आर्या को गिरफ्तार किया गया है। IB की विशेष टीम ने उसे अरेस्ट किया है। बुधवार रात इसकी जानकारी देते हुए एसपी आशीष भारती ने बताया कि IB की विशेष टीम ने पटना से आकर रोहतास पुलिस की मदद से उसे गिरफ्तार किया है। उसके साथ एक अन्य साथी की भी गिरफ्तारी हुई हैं। बताया जा रहा है कि विजय आर्या दो-तीन माह से रोहतास नौहट्टा क्षेत्र में ही नक्सली संगठन को मजबूत बनाने में जुटा था। विशेष टीम यहां से मिले इनपुट के आधार पर गिरफ्तार करने आई थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

पुलिस की यह कार्रवाई रोहतास थाने के समहुता के पास की गई। नक्सली विजय आर्या पर 14 राज्यों में केस दर्ज हैं। इनामी नक्सली को पुलिस ने धर दबोचा। बता दें कि नक्सली विजय आर्य गया जिले के कोच थाना क्षेत्र का रहने वाला है। गया, जहानाबाद, औरंगाबाद, कैमूर और रोहतास जिले के विभिन्न इलाकों में नक्सली घटनाओं में शामिल रहा है और पिछले कई दिनों से रोहतास के पहाड़ी इलाके में अपने संगठन को विस्तार करने में लगा था। खासकर भाकपा माओवादी के सोन-गंगा विध्यांचल कमेटी को फिर से सक्रिय करने के लिए काम कर रहा था। पुलिस को इसकी सूचना मिली तो विशेष टीम गठित की गई और औरंगाबाद पुलिस की मदद से रोहतास पुलिस ने इसे पकड़ लिया।

नक्सली विजय आर्य के पास से टैब, पेन-ड्राइव, हार्डडिस्क, नक्सली पर्चा, लेवी की रसीद, भाकपा माओवादी का लेटर हेड के अलावे कई आपत्तिजनक सामान बरामद हुए हैं। रोहतास के एसपी आशीष भारती ने प्रेस वार्ता कर बताया कि लगभग डेढ़ दर्जन से अधिक नक्सली वारदातों में इसकी संलिप्तता रही है। गया, औरंगाबाद, जहानाबाद और रोहतास जिला में इसने कई नक्सली वारदातों को अंजाम दिया है और आगे भी नक्सली घटना को अंजाम देने की फिराक में था।

रोहतास एसपी आसिफ अली ने बताया कि इसकी गिरफ्तारी से इलाके में नक्सलियों का नेटवर्क टूट जाएगा। साथ ही उन्होंने बताया कि इलाके में फिर से शोधगंगा विध्यांचल कमेटी को जागृत करने और नए लोगों को जोड़ने के अभियान में विजय आर्य लगा हुआ था। वह फिर से इलाके में लेवी वसूलने के लिए रणनीति बना रहा था। पुलिस को जब इसकी सूचना प्राप्त हुई तो टीम गठित कर गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि पुलिस को कई मामलों में इस कुख्यात नक्सली की तलाश थी।