कोरोना मरीजों के मिलने के बाद पंचायतों को किया गया सील

0
seal

परिवार के सदस्यों को भेजा गया क्वारेंटीन सेंटर

लंबा हो सकता भोरे की महिला का संक्रमण चेन

कटेया से भी दो लोगों को भेजा गया सैंपल कलेक्शन सेंटर

परवेज अख्तर/गोपालगंज:-जिले के अलग अलग प्रखंडों से कोरोना के मरीजों के मिलने की घटना के बाद आज दूसरे दिन भी सभी गांवो में पूर्ण चौकसी बरती गई,सभी गांवों में सन्नाटा पसरा रहा,पुलिस सघन गश्त लगाती रही। स्वास्थ्य विभाग की टीम भी लगातार गांव में कैम्प कर रही है। अनावश्यक घरों से बाहर निकलने वाले लोगो से पुलिस पूर्ण सख्ती से पेश आ रही है।हथुआ एसडीओ अनिल कुमार रमन व एसडीपीओ अशोक कुमार चौधरी के द्वारा आज भी पंचदेवरी भोरे व फुलवरिया के संक्रमित के गांव का निरीक्षण किया गया। फुलवरिया के हरहरा गांव का 60 वर्षीय व्यक्ति दूध का काम करता था जिसको संक्रमण हुआ वही भोरे की महिला जिसकी उम्र भी 62 वर्ष है उसको संक्रमण हुआ है जिसका नाती नाई का काम करता था।

इन लोगों के सम्पर्क में कितने लोग आएं है जबकि तलाशी व जांच चल रही है,सभी पीड़ितों के परिजनों को जांच हेतु शिविर में रखा गया है वही अन्य संदिग्ध लोगों का भी सैम्पल लिया जा रहा है। आज सोमवार को भी जिलाधिकारी अरसद अजीज व एसपी मनोज कुमार तिवारी ने विभिन्न स्थानों का दौरा किया व अधिकारियों व कर्मचारियों को आवश्यक निर्देश दिए।अधिकारियों ने विभिन्न क्वेंटिन सेंटर का भी निरीक्षण किया व जिले के सीमाओं का भी निरीक्षण किया।

विभिन्न थानाध्यक्षो से लॉक डाउन का सख्ती से पालन कराने का भी आदेश दिया गया।अधिकारियों ने आम लोगो से अपील करते हुए कहा कि घबड़ाने की जरूरत नही है अपने घरों में रहें व किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर तत्काल फोन करें।

भोरे प्रखंड के बनकटा जागीरदारी गांव में दो कोरोना पॉज़िटिव मरीज मिलने से हड़कंप मच गया. एक 70 वर्षीय महिला और एक पुरुष का रिपोर्ट पॉज़िटिव आया है. रिपोर्ट पॉज़िटिव आने के बाद प्रशासन अलर्ट पर है. वहीं महिला और पुरुष का पॉज़िटिव रिपोर्ट तब आया है, जब मेडिकल टीम द्वारा घर घर स्क्रीनिंग का कार्य किया गया. जबकि महिला के 14 परिजनों और दो पड़ोसियों को सैंपल जांच के लिए भेजा गया है.

दोनों ही मरीजों के ट्रैवल हिस्ट्री की प्रशासन द्वारा जांच की जा रही है. वहीं ऐहतियात के तौर प्रभावित बनकटा जागीरदारी से तीन किलोमीटर के दायरे में आने वाले तीन पंचायत कल्याणपुर, डूमर नरेंद्र, हुस्सेपुर को भी सील कर दिया गया है. इसके साथ ही इस जद में आने वाले दुकानों को भी बंद करवाने के साथ लोगों को घरों में रहने का निर्देश दिया गया है.

भोरे प्रखंड की बनकटा जागीरदारी पंचायत के बनकटा जागीरदारी गांव में एक महिला और एक पुरुष के कोरोना पॉज़िटिव रिपोर्ट आने के बाद से ही हड़कंप मच गया है. रिपोर्ट आने के बाद भोरे थानाध्यक्ष जंगो राम, बीडीओ पन्नालाल, सीओ जितेंद्र कुमार सिंह और रेफरल अस्पताल के प्रभारी डॉ खाबर इमाम बनकटा जागीरदारी गांव पहुंच गए और पॉजिटिव आई महिला के 14 परिजनों और उसके दो अन्य पड़ोसियों को सैंपल जांच के लिए गोपालगंज भेज दिया गया.

इसके साथ ही जिस पुरुष में कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट आई है. फिलहाल अभी उसकी विस्तृत रिपोर्ट नहीं मिल पाई है. जबकि महिला बुजुर्ग है. उसकी कोई ट्रेवल हिस्ट्री भी नहीं है. इसके लिए प्रशासन के माथे पर बल पड़ गया है. प्रशासन अब इस बात का पता लगाने में जुट गई है कि आखिर महिला में कोरोना का संक्रमण कहां से हुआ.

महिला के परिजनों ने प्रशासन को बताया है कि महिला 20 दिन पहले कटेया थाने के बगही बाजार अपनी बहन के यहां गई थी. वहां से लौटने के बाद ही उसे सर्दी, खांसी और सांस लेने की दिक्कत हो रही थी. इसकी जानकारी मिलते ही कटेया प्रशासन ने भी उसकी बहन के यहां से दो लोगों को सैंपल जांच के लिए गोपालगंज भेज दिया है.

प्रशासनिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बनकटा जागीरदारी में जिस महिला में कोरोना पॉज़िटिव मिला है. उस महिला का इलाज भोरे के एक निजी क्लिनिक में कराया गया था. यह बात सामने आते ही प्रशासन पूरी जानकारी जुटाने में जुट गई है.बनकटा जागीरदारी में कोरोना पॉज़िटिव पाई गई महिला का संक्रमण चेन काफी लंबा हो सकता है. महिला का पुत्र पेशे से नाई है, जो लगातार आस-पास के गांव में घूम-घूम कर लोगों की दाढ़ी बना रहा था.

यहां तक कि जिस समय प्रशासन के अधिकारी कोरोना पीड़ित महिला के परिजनों को सैंपल के लिए ले जाने पहुंची थी. उस समय भी वह लगभग 50 से ज्यादा लोगों का दाढ़ी बना चुका था. जिसे स्थानीय चौकीदारों के मदद से पकड़वा कर लाया गया. जिससे अंदेशा लगाया जा रहा है कि पीड़ित महिला का चेन काफी लंबा हो सकता है. बनकटा जागीरदारी गांव में अचानक दो कोरोना पॉज़िटिव मरीज मिलने से प्रशासन के हाथ पांव फूल गए हैं.

प्रशासन ने एहतियात के तौर पर बनकटा जागीरदारी के 3 किलोमीटर की परिधि को पूरी तरह से सील कर दिया है. जिन मुख्य रास्तों को सील किया गया है उनमें पड़ौली, तिवारी चकिया, फत्तू छापर, महरा देउर, नदवा आदि जगह शामिल है. इसके साथ 3 किलोमीटर के एरिया में प्रशासन द्वारा लगातार माइकिंग कराकर लोगों से घरों में रहने की अपील की जा रही है. साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि लोग घबराए नहीं, शांति से अपने-अपने घरों में रहे.

वही गोपालगंज सदर प्रखंड के ककरकुड़ गांव को भी सील कर दिया गया है गांव में प्रवेश करने वाले सभी रास्तों को बंद कर दिया गया है।सभी चौक चौराहों पर पुलिस बलों की तैनाती की गई है,संक्रमित के साथ व परिवार के सदस्यों का भी सैम्पल जांच हेतु भेजा गया है।नगर थाना पुलिस गांव के आसपास लगातार गश्त लगा रही है। सोमबार को दूसरे दिन भी पुलिस सड़कों पर सघन गश्त करते हुए अनावश्यक मटरगश्ती करने वालो से सख्ती से पेश आई व जुर्माना भी लिया गया।