पंजाब के CM के बयान पर बिहार में सियासत तेज, बिहार के CM ने सुनाई खरी-खरी

0

पटना: पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्‍नी के भइया वाले बयान पर बवाल मचा है। बिहार में राजनीतिक दलों ने कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की है। जदयू और भाजपा ने इसे बिहारियों का अपमान करार दिया है। बिहार के उपमुख्‍यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के मंत्री संजय कुमार झा ने चन्‍नी के बयान पर कड़ी प्रतिक्रि‍या दी अब सीएम नीतीश कुमार ने भी खरी-खरी सुना दी है। उन्‍होंने कहा कि ऐसे बयानों का कोई मतलब नहीं है। बिहार के लोगों की कितनी बड़ी भूमिका है पंजाब है। उन्‍हें ये पता है कि कितने बिहारी वहां रह रहे हैं। बिहार के लोगों ने कितनी सेवा की है पंजाब की। मुझे तो आश्‍चर्य लगता है कि इस तरह की बात कैसे लोग बोलते हैं।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

इससे पहले बिहार के उपमुख्‍यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और राज्‍यसभा सदस्‍य सुशील कुमार मोदी ने चन्‍नी के बयान की निंदा की। पूर्व डिप्‍टी सीएम ने कहा कि बिहार-यूपी के लोग पंजाब न जाएं तो उनके किसानों के लिए खेती करने से लेकर कारखाना चलाना तक मु‍श्किल हो जाएगा। पंजाब की समृद्धि‍ में उन भैया लोगों का पसीना ही लगा है जिन्‍हें पंजाब के कांग्रेसी सीएम देखना नहीं चाहते। यदि कांग्रेस गलती से भी पंजाब में जीत गई तो बिहार-यूपी के लोगों का वहां जीना मु‍श्किल हो जाएगा।

इससे पहले बिहार सरकार के मंत्री संजय कुमार झा ने भी चन्‍नी के बयान की निंदा की। कहा कि बिहार और यूपी के लोग जहां भी गए, अपनी कड़ी मेहनत से जगह बनाई। बावजूद इस तरह का बयान शर्मनाक है। मंत्री ने प्रियंका गांधी और चन्‍नी से माफी मांगने को कहा। गुरुवार को एक अलग ट्वीट में संजय कुमार झा ने लिखा है कि क्षेत्र और संप्रदाय के तुष्‍टीकरण की संकीर्ण राजनीति करते-करते कांग्रेस हाशिये पर पहुंच गई है लेकिन बिहार-यूपी के लेागों के खिलाफ घृणा फैलाना बंद नहीं किया है। मंत्री ने लिखा है कि चन्‍नी के शर्मनाक बयान पर प्रियंका गांधी की तालियों के लिए कांग्रेस की माफी का इंतजार है।

मालूम हो कि पंजाब में चुनावी सभा के दौरान प्रियंका गांधी की मौजूदगी में सीएम चरणजीत सिंह चन्‍नी ने कहा था कि प्रियंका पंजाब की बहू हैं। यूपी दे, बिहार दे, दिल्‍ली दे भइये आके इते राज नइ कर दे। कहने का मतलब था कि बिहार, यूपी के भइया को यहां फटकने नहीं देना है।