आंख में मिर्ची पाउडर डाला और 1 करोड़ का सोना लेकर नौ-दो-ग्यारह हो गया

0

भागलपुर: राज्य में सोना लूट का मामला एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है। भागलपुर में दिनदहाड़े 1 करोड़ की सोना की लूट हुई है। आंख में मिर्च पाउडर झोंककर बाइकसवार अपराधियों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया। इससे पहले दरभंगा, मुजफ्फरपुर और वैशाली समेत कई जिलों में सोना लूट की घटना हो चुकी है। दरभंगा में 9 दिसंबर को 55 किलो सोना लूट लिया गया था। मुथूट फाइनेंस के ऑफिस से मुजफ्फरपुर और वैशाली में करोड़ों की सोना की लूट हो चुकी है। इन सभी मामलों में पुलिस को कुछ खास कामयाबी नहीं मिली है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

कोलकाता से भागलपुर आते ही लूट

भागलपुर में ज्वेलरी दुकान के कैरिंग एजेंट से सोना की लूट हुई है। पटना के रहनेवाले अभिषेक कुमार कोलकाता से सोने की ज्वेलरी लेकर भागलपुर पहुंचे थे। उनके साथ विक्रमशीला के बाबू साहब सिंह भी थे। शनिवार को सुपर एक्सप्रेस से भागलपुर जंक्शन उतरे और स्कूटी से शहर के विशाल स्वर्णिका ज्वेलर्स की ओर जा रहे थे। डीएन सिंह रोड स्थित तनिष्क शो रूम के पास पहुंचे ही थे कि सामने से बाइक पर सवार चार बदमाश आए। जबतक दोनों कुछ समझ पाते बदमाशों ने दोनों की आंखों में मिर्च पाउडर झोंक दिया। उनमें से बाइक के पीछे बैठे दो बदमाशों ने पिस्तौल सटाया और अभिषेक के पास रखे सोने की ज्वेलरी से भरा बैग लूट लिया।

एसएसपी ने की पीड़ितों से पूछताछ

अभिषेक ने घटना की जानकारी विशाल स्वर्णिका ज्वेलर्स के मालिक विशाल को फोन पर दी। फिर विशाल आनन-फानन में डीएन सिंह रोड पहुंचे। उन्होंने सोना लूट की घटना की सूचना कोतवाली पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने सभी को लेकर थाने आई। कोतवाली थाने में एसएसपी निताशा गुड़िया ने अभिषेक और बाबू साहब सिंह से सोना लूट की घटना की जानकारी ली। पीड़ितों ने एसएसपी को बताया कि लूटे गए बैग में 1 किलो 850 ग्राम सोने की ज्वेलरी थी।

दरभंगा में भी हो चुकी है सोने की लूट

इससे पहले दरभंगा के टावर चौक के पास 9 दिसंबर 2020 को हथियारबंद अपराधियों ने दिनदहाड़े अलंकार ज्वेलर्स से करोड़ों की सोना लूट लिया था। लूट के दौरान अपराधियों ने कई राउंड फायरिंग भी की थी। तब ये मामला देश में राष्ट्रीय सुर्खियां बना था। लूट के बाद दरभंगा पुलिस ने बाहर के 10 अपराधियों की सूची जारी की थी। इस मामले में पुलिस को कुछ खास कामयाबी नहीं मिली है.