पटना में बारिश ने तोड़ा 23 सालों का रिकॉर्ड, वज्रपात से पूरे बिहार में 7 लोगों की मौत

0

परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
बिहार की राजधानी पटना में शुक्रवार और शनिवार की मध्य रात के बाद हुई बारिश ने जून महीने में हुई बारिश के पिछले 23 सालों का रिकॉर्ड ही तोड़ दिया. रात में पटना में भारी गरज के साथ बारिश होती रही. देर रात बादलों की गड़गड़ाहट और ब्रजपात की घटनाएं इतनी तीव्र थी कि लोग काफी देर तक जगते रहे. मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार, शुक्रवार की शाम 5:30 बजे तक 19 मिलीमीटर बारिश (Rain) हुई थी लेकिन रात 11:30 बजे ही आंकड़ा 22.2 मिली मीटर तक पहुंच गया था. हालांकि पटना में इस समय तक मामूली बारिश हुई थी. लेकिन इसके बाद अचानक से मानो बादल फट पड़ा और रात 2.30 बजे तक यह आंकड़ा 110.8 मिली मीटर तक पहुंच गया. कुल मिलाकर 3 घंटे में 88.6 मिली मीटर की बारिश रिकॉर्ड की गई.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

इस बारिश की वजह से राजधानी पटना पानी- पानी हो गया. शुक्रवार सुबह 8:30 बजे से शनिवार 8:30 के बीच पटना में 146 मिलीमीटर बारिश हुई जो पिछले 23 सालों में सबसे ज्यादा माना जा रहा है. बिहार में जून महीने में सर्वाधिक बारिश का रिकॉर्ड 1997 का है जब 24 घंटों में 205 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई थी. पटना में शुक्रवार की रात अचानक भारी बारिश और बादलों के गरजने से हर कोई हैरान रह गया. वैसे मौसम विज्ञान केंद्र ने उत्तर बिहार और सीमांचल के इलाकों में एक- दो जगह पर भारी बारिश की संभावना तो जताई थी लेकिन जिस तरीके से सबसे ज्यादा बादलों की गड़गड़ाहट और बारिश पटना में हुई उसे लेकर लोग अचंभित हैं. मौसम विज्ञान केंद्र Patna की तरफ से यह बताया गया है कि पिछले 1 हफ्ते से दक्षिण बिहार में तापमान का बढ़ना जारी था और ऐसे में वातावरण में नमी पहले से मौजूद थी. उस पर दक्षिण पूर्वी उत्तर प्रदेश और इसके आसपास के चक्रवाती परिसंचरण की वजह से दक्षिण बिहार के वातावरण में अस्थिरता आ गई थी और इसी कारण दोपहर के बाद थंडर स्ट्रोम भी बनने लगे थे.

लखीसराय और सीतामढ़ी में भी एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है

बादलों के अचानक से घने हो जाने और मौसमी सिस्टम के साथ मिलने के बाद काफी गरज के साथ भारी बारिश और ब्रजपात हुआ. बिहार में शुक्रवार की रात और शनिवार को दिन में ब्रजपात की वजह से 7 लोगों की मौत हो गई. यह सभी मौतें पटना सहित 5 जिलों में हुई है. आपदा प्रबंधन विभाग के प्रावधान के अनुसार इन सभी को 4- 4 लख रुपे का मुआवजा मिलेगा. वज्रपात से पटना में एक मुजफ्फरपुर और शेखपुरा जिले में 2 लोगों की मौत हुई है. इसके साथ ही लखीसराय और सीतामढ़ी में भी एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है.