रौजा व कथक गौर गांव की घटना में दो अलग-अलग में 6 दर्जन से अधिक नामजद व 350 अज्ञात पर प्राथमिकी

0
fir
  • उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर व जी.बी.नगर थाने के दारोगा ने दर्ज करायी प्राथमिकी
  • गिरफ्तार महिलाओं समेत 28 लोगों से पूछताछ के बाद भेजे गये जेल
  • सदर अस्पताल में सभी आरोपियों का देर शाम तक कराया गया कोरोना जाँच
  • एसपी के निर्देश पर छापेमारी दल का गठन
  • रौजा व कथक गौर गांव के शराब माफिया हुए भूमिगत
  • बख्शे नहीं जायेंगे आरोपी : थानाध्यक्ष

परवेज अख्तर/सिवान :
जिले के जी.बी. नगर थाना क्षेत्र के रौजा व कथक गौर की घटना को लेकर दो अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज की गयी है. जिसमें करीब 6 दर्जन से अधिक लोगों को नामजद किया गया है. वहीं साढ़े तीन सौ से अधिक अज्ञात लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है. जिनकी पहचान में पुलिस जुटी हुयी है. पहली उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर गुंजन कुमार के आवेदन पर स्थानीय जी. बी. नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. दर्ज प्राथमिकी में 3 दर्जन से अधिक लोगों को नामजद व डेढ़ सौ से दो सौ के बीच में अज्ञात लोगों को शामिल किया गया है. 3 दर्जन से अधिक नामजदों में नामजद अभियुक्तों में धर्मावती कुंवर, टुनटुन रावत 28 को पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार कर लिया है. जबकि पुलिस सोशल तकनीकी व गिरफ्तार लोगों के स्वीकृति बयान के आधार पर अज्ञात लोगों की पहचान करने में जुटी हुई है. बाद में पुलिस द्वारा अज्ञात लोगों की पहचान करने व अनुसंधान के पश्चात दर्ज कांड में अप्राथमिकी अभियुक्त बनाकर वरीय पुलिस पदाधिकारी के निर्देश के आलोक में उसे भी गिरफ्तार करेगी. दूसरी प्राथमिकी जीबी नगर थाना में पड़ स्थापित अवर निरीक्षक बिमलेश कुमार के आवेदन पर स्थानीय जीबी नगर थाने में दर्ज की गयी है. इसमें 40 से 45 लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
Webp.net-compress-image
a2

यहां बताते चलें कि सोमवार की अहले सुबह उत्पाद विभाग की टीम ने जिला प्रशासन के निर्देश का अनुपालन करते हुए रौजा व कथक गौर गांव में अवैध शराब निर्माण के अड्डों पर छापेमारी करने गई हुई थी कि इसी बीच अवैध शराब कारोबारियों ने उत्पाद विभाग की टीम पर जबरदस्त हमला बोल दिया था. उधर सूचना पाकर पहुंची स्थानीय जी.बी. नगर थाना पुलिस की टीम पर भी कारोबारियों ने हमला बोल दिया था. उधर दोनों टीम पर हुए हमले में कई पुलिसकर्मी सदीद तौर पर जख्मी हो गए थे।उधर स्थिति को देखते हुए पुलिस कप्तान अभिनव कुमार, सदर एसडीपीओ जितेंद्र पांडे समेत कई थाने की पुलिस ने घंटों मोर्चा संभालने के बाद स्थिति को नियंत्रण करते हुए घटना में शामिल 2 दर्जन से अधिक लोगों को चिन्हित कर गिरफ्तार कर लिया था.

जबकि शेष लोगों की गिरफ्तारी के लिए पूरी रात क्षेत्रों की नाकाबंदी कर पुलिस द्वारा छापेमारी की गई, लेकिन देर रात तक पुलिस को सफलता हासिल नहीं हो सकी. गिरफ्तार लोगों से पुलिस द्वारा बारीकी पूर्वक पूछताछ भी की गई. पूछताछ के बाद सभी आरोपियों का मेडिकल कराने के बाद सीवान न्यायालय में पेश किया. जहां न्यायाधिश ने सभी को रिमांड करते हुये मंडल कारा भेज दिया. उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर गुंजन कुमार द्वारा दर्ज प्राथमिकी का अनुसंधान जी.बी. नगर थाने में पदस्थापित अवर निरीक्षक ध्रुव प्रसाद सिंह कर रहे हैं. जबकि अन्य घटना में शामिल लोगों की गिरफ्तारी का नेतृत्व जीबी नगर थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार सिंह कर रहे हैं.

fir

रौजा व कथक गौर गांव के शराब माफिया हुए भूमिगत

उत्पाद विभाग व स्थानीय पुलिस पर हमला करने के बाद अवैध शराब कारोबारी भूमिगत हो गए हैं. जिनकी पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है. पुलिस आरोपीतों की गिरफ्तारी के लिए कई तकनीकी अपना रही है. छापेमारी दल में लगे पुलिस पदाधिकारियों का कहना है. घटना में शामिल लोगों को हर हाल में गिरफ्तार कर लिया जाएगा. यहां बताते चले कि घटना में शामिल सभी लोग घर छोड़ फरार हैं. जिससे गांव में वीरानी छाई हुई है.

क्या कहते हैं पुलिस अधिकारी

इस संदर्भ में पूछे जाने पर एसडीपीओ सदर जितेंद्र पांडे ने कहा कि उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर गुंजन कुमार व दारोगा विमलेश कुमार के आवेदन पर स्थानीय थाने में दो नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. दर्ज कांड के नामजदों में से 2 दर्जन से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है. शेष अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए स्थानीय पुलिस एक टीम बनाकर छापेमारी कर रही है. जल्द से जल्द घटना में शामिल लोगों को चिन्हित कर गिरफ्तार कर लिया जाएगा.