शराब से 8 लोगों की हुई मौत पर आगबबूला हुई राजद, कहा – प्रदेश के जिद्दी मुख्यमंत्री पर दर्ज हो हत्या का केस

0

✍️परवेज़ अख्तर/एडिटर इन चीफ:
छपरा में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है।जहां बीती रात्रि मृतकों की संख्या सात थी,वहीं शुक्रवार अल सुबह प्रशासनिक आंकड़ा के मुताबिक यह संख्या बढ़कर 8 हो गई है।लेकिन हमारे स्थानीय संवाददाता के मुताबिक मौत की संख्या अभी और बढ़ सकती है।चारों तरफ चीख-पुकार मचा हुआ है। एक साथ जहरीली शराब से हुई इतनी मौतों के बाद अब विपक्ष भी एक्शन के मूड में आ गई है।मुख्य विपक्ष पार्टी राजद की फायर ब्रांड नेता रितु जायसवाल इन मौतों को लेकर आगबबूला नजर आई। उन्होंने इन मौतों के लिए सीधे सीधे बिहार के मुख्यमंत्री को जिम्मेदार ठहराया। रितु जायसवाल ने कहा कि बिहार के दंभी और जिद्दी मुख्यमंत्री के कारण हर दिन शराब पीकर लोगों की मौत हो रही है।उनकी शराबबंदी सिर्फ कागजों पर ही नजर आती है।जबकि जमीनी हकीकत कुछ और ही है। राजद प्रवक्ता ने कहा हम शराबबंदी का समर्थन करते हैं, लेकिन ऐसी शराबबंदी का नहीं, जो सिर्फ कागजों पर नजर आती है।रितु जायसवाल ने कहा कि बिहार में शराबबंदी को लगाम लगाने के लिए सरकार के पास कोई योजना नहीं है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.45 PM
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.44 PM (1)
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.44 PM
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.42 PM (1)
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.43 PM (1)
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.44 PM (2)
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.42 PM
WhatsApp Image 2022-08-16 at 8.56.43 PM

👉होना चाहिए केस

रितु जायसवाल ने कहा बिहार में एक हत्या पर आरोपी को उम्र कैद, फांसी की सजा तक हो जाती है। यहां एक मुख्यमंत्री की जिद के कारण इतने लोगों की मौत हो गई है तो उसके लिए जो जिम्मेदार है, उनके खिलाफ हत्या का केस क्यों नहीं दर्ज होना चाहिए। बिहार के मुख्यमंत्री के नाकाम अधिकारियों के कारण यह मौतें हो रही है, तो इसके लिए मुख्यमंत्री ही दोषी हैं।

👉गुजरात के बहाने केंद्र पर किया हमला

रितु जायसवाल ने शराबबंदी पर केंद्र सरकार पर जमकर हमला किया। हाल में गुजरात में जहरीली शराब से 40 लोगों की हुई मौत की घटना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि शराबबंदी के नाम पर सिर्फ दिखावा किया जा रहा है। ऐसे शराबबंदी की आवश्यकता नहीं है, जो सिर्फ कागजों तक सीमित है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here