साधु के बोल: राबड़ी देवी यादव नहीं राजपूत, चपरासी बनने के लायक नहीं लालू यादव, तेजप्रताप अय्याश, होश में रहें नहीं तो कर दूंगा बेनकाब

0

पटना: तेजस्वी यादव की शादी में न्योता नहीं मिलने से नाराज मामा साधु यादव के भड़ास पर तेज प्रताप यादव के प्रहार के बाद लालू यादव फैमिली में ड्रामा चरम पर है। तेजप्रताप यादव ने सोशल मीडिया के जरिए मामा साधु यादव के खिलाफ मोर्चा खोला तो पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के भाई और सांसद रहे साधु यादव ने अपने बहनोई लालू समेत पूरे परिवार की पोल पट्टी खोलना शुरू कर दिया। भांजे तेजप्रताप यादव के रवैया से साधु यादव काफी गुस्से में हैं। वे लालू-राबड़ी फैमिली के खिलाफ जमकर अनाप-शनाप बोल रहे हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

साधु यादव ने लालू, राबड़ी और तेज प्रताप को एक साथ निशाने पर लिया है। वही तेजस्वी यादव के प्रति उनका सॉफ्ट कॉर्नर भी साफ झलक रहा है। तेजस्वी की शादी के तौर-तरीके से साधु यादव भले ही नाराज हो लेकिन व्यक्तिगत तेजस्वी यादव पर कोई छींटाकशी या प्रहार नहीं कर रहे हैं।

राबड़ी देवी यादव नही राजपूत

साधु यादव ने लालू, राबड़ी और तेज प्रताप के बारे में जितनी बातें कही है वह काफी गंभीर और बिहार की राजनीति में हलचल पैदा करने वाली हैं। कभी अपनी मुख्यमंत्री बहन की ताकत रहे साधु यादव आज राबड़ी देवी को राजपूत बता रहे हैं। साधु यादव ने चिल्ला चिल्ला कर राबड़ी देवी के बारे में यह बड़ी बात कह दी। उन्होने कहा है कि राबड़ी देवी यादव समाज से नहीं बल्कि वह राजपूत है। उन्होंने बार बार जोर देकर कहा कि राबड़ी देवी यादव नही बल्कि राजपूत हैं।

लालू, राबड़ी दोनों को बनाया मुख्यमंत्री

सुभाष यादव और प्रभु नाथ यादव उनके भाई हो सकते हैं लेकिन, साधु यादव उनका भाई नहीं है। इतना ही नहीं साधु यादव ने अपने बहनोई लालू प्रसाद यादव के बारे में कहा है कि लालू चपरासी बनने के लायक भी नहीं थे, फिर भी उन्हें मुख्यमंत्री बना दिया। लालू यादव मेरी बात पर रहते तो इतनी दुर्गति नही होती। जिस शिवानंद तिवारी ने चारा घोटाले में केस करके जेल भेजवाया उसी का बेटा बार-बार एमएलए बन रहा है और सलाहकार बना हुआ है।

कर देंगे बेनकाब

साधु यादव ने कहा कि राबड़ी देवी को भी उन्होने ही अपने बल और कौशल की बदौलत मुख्यमंत्री बना दिया लेकिन इन लोगों ने बदनाम करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ा। पुराने दिनों को याद करते हुए साधु यादव ने कहा कि प्रकाश झा से पैसे लेकर गंगाजल फिल्म बनवाया गया ताकि उनकी छवि खराब कराई जा सके। साधु यादव दावा करते हैं की राष्ट्रीय जनता दल को उन्होंने बचाया। साधु यादव ने दावा किया है कि अगर उन लोगों में हिम्मत है तो मीडिया के सामने आकर खुली बहस करें। बहस में उन्हें बिल्कुल बेनकाब कर देंगे और असली चरित्र उजागर कर देंगे।

अब राज्यसभा या विधान परिषद का ही आसरा

साधु यादव ने आरोप लगाया कि सत्ता में रहते लालू यादव ने अपराधियों को संरक्षण दिया और सारा आरोप उनपर डाल दिया। अब यादव समाज भी समझ गया है कि पूरा परिवार पैसे का लालची है। दावा किया कि ये लोग अब सीधे चुनाव नही जीत सकते। अब राज्यसभा या विधान परिषद में जा सकते हैं, जनता इन्हें वोट
नही देगी।

तेजप्रताप के पत्नी के अलावे दो लड़कियों से संबंध

साधु यादव ने तेजप्रताप यादव के चरित्र पर सवाल उठाया। उन्होंने माई का लाल कहे जाने पर भारी आपत्ति जताई। कहा कि पटना की एक दूसरी जाति की लड़की से तेजप्रताप यादव का अवैध सम्बन्ध है। इसे छिपाने के लिए लालू यादव ने 5 करोड़ देकर दिल्ली में एक होटल में रखा है। साधु यादव ने तेजप्रताप का एक दूसरी लड़की से भी अवैध संबंध का दावा किया। उन्होने कहा कि इन्हीं वजहों से दरोगा राय की पोती को डायवोर्स कर दिया।

विरोध में करेंगे चुनाव प्रचार

साधु यादव ने खुले आम ऐलान किया है कि आगामी चुनावों में वे लालू यादव और उनकी पार्टी के विरोध में प्रचार करेंगे और हराएंगे। अब उनका कोई बहन, बहनोई या भांजा नही है।