बिहार में भ्रष्टाचार में लिप्त तीन आईएएस अधिकारियों पर चलेगा मुकदमा, कार्रवाई के लिए मांगी गई है अनुमति

0

पटना: बिहार के प्रशासनिक सेवा से जुड़े अधिकारियों पर लगातार भ्रष्टाचार में लिप्त होने के मामले सामने आ रहे हैं। कुछ माह पहले बालू के कारोबार में अवैध कमाई कमाई करनेवाले दो आईपीएस निलंबित किए गए थे। अब बिहार सरकार तीन IAS अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है। बताया जा रहा है कि इन तीन IAS के खिलाफ सरकारी योजना में करोड़ों रुपए घोटाला करने का आरोप है। जिसके बाद अब इन तीनों प्रशासनिक अधिकारियों पर मुकदमा चलाए जाने की बात सामने आयी है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

जिन तीन IAS अधिकारियों पर सरकार की तरफ से मुकदमा करने की तैयारी की जा रही है। उनमें केपी रमैया, एसएम राजू और रामाशीष पासवान हैं। बताया गया तीनों पर मुकदमा करने के लिए भारत सरकार से अनुमति मांगी गई है। इसके लिए भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम के तहत निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने निगरानी के विशेष न्यायाधीश मनीष द्विवेदी की अदालत में सोमवार को पत्र दाखिल किया है।

मामला बिहार महादलित विकास मिशन से जुड़ा हुआ है। जिसमें करोड़ों रुपए के घोटाले किए गए। निगरानी की निगाह में यह मामला 2017 में आया था। बताया गया कि बिहार महादलित विकास मिशन के तहत उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए महादलित छात्रों को प्रशिक्षण देने की व्यवस्था की गई थी। उसमें बड़े पैमाने पर अनियमितता बरतते हुए आरोपितों द्वारा करोड़ों रुपये गबन किया गया था। जिसमें 30 अक्टूबर 2017 को मामला दर्ज किया था। इस मामले में निगरानी ने पूर्व में इन तीन आइएएस अधिकारियों सहित 10 आरोपितों के खिलाफ न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल कर चुकी है। आरोप पत्र के साथ अभियोजन चलाने के लिए स्वीकृति पत्र नहीं था। अब बिहार में लगभग साढ़े साल बाद एक बार फिर से इस पर कार्रवाई करने की तैयारी चल रही है।