गुठनी में 72 लाख पूंजी के साथ जीविका के दूसरे सीएलएफ का हुआ गठन

0
Siwan Online News
  • अनिता अध्यक्ष तो इमलावती सचिव चुनी गयी
  • जिला से आये पर्यवेक्षक की निगरानी में हुआ चुनाव

परवेज अख्तर/सिवान: 72 लाख पूंजी के साथ गुठनी जीविका परियोजना अंतर्गत दूसरे संकुल स्तरीय संघ का विधिवत गठन शुक्रवार को जिला से आये पर्यवेक्षकीय अधिकारियों की निगरानी में वोटिंग पद्धति से किया गया. प्राथमिक विद्यालय खिलवा के प्रांगण आयोजित चुनावी आमसभा अध्यक्षता बीपीएम आमोद कुमार शर्मा ने किया और महादेवी सीएलएफ चित्ताखाल के पदाधिकारियों के लिये वोटिंग कराया गया जिसमें अध्यक्ष अनिता देवी, उपाध्यक्ष कुसुम देवी,सचिव इमलावती देवी व उप सचिव रेणु सिंह चुनी गयी.इस चुनावी आमसभा में सोनहुला, टड़वा खुर्द एवं सोहगरा पंचायत के 18 जीविका महिला ग्राम संगठन की 210 निदेशक मंडल के सदस्यों ने भाग लिया. आमसभा की कार्यवाही का सागर संकुल स्तरीय संघ तेनुआ की सचिव गायत्री देवी व अन्य जीविका दीदियों द्वारा सामूहिक रूप से जीविका गीत गाकर किया गया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

महत्ती सभा को संबोधित करते हुए बीपीएम आमोद कुमार शर्मा ने कहा कि गरीबी उन्मूलन एवं महिला सशक्तिकरण की दिशा में प्रयासरत बिहार सरकार की उत्कृष्ट संस्थान है जीविका जिसके जरिये महिलाये न केवल रोजगार से जुड़कर बेहतर जिंदगी जी रही है बल्कि समाज एवं राष्ट्र के नव निर्माण में अहम भूमिका निभा रही है. उन्होंने संकुल स्तरीय संघ के उदेश्यों, क्रिया कलापों एवं इसके माध्यम से महिलाओं में हो रहे नेतृत्व क्षमता विकास के बारे में विस्तृत जानकारी दी. क्षेत्रीय समन्वयक चन्द्रकान्त कुमार एवं सामुदायिक समन्वयक श्रीराम साह के पर्यवेक्षण मे चित्ताखाल महिला संकुल स्तरीय संघ का नाम महादेवी के नाम पर प्रस्तावित कर ध्वनिमत से स्वीकृत किया गया.

महादेवी संकुल स्तरीय संघ चित्ताखाल के नव चयनित निदेशक मंडल के अध्यक्ष सहित अन्य पदाधिकारियों को प्रखंड परियोजना प्रबंधक द्वारा शपथ ग्रहण कराया गया और पद एवं कर्तव्य का शपथ दिलाया गया. इस मौके पर जिला जीविका परियोजना से पर्यवेक्षक के रूप में आये नोडल अधिकारी प्रीतम कुमार, फार्म प्रवंधक कृष्ण कुमार गुप्ता, पुनीत कुमार, सुशील कुमार, पिंटू, मुन्ना कुमार सहित कई अन्य लोग के साथ सैकड़ो की संख्या में जीविका दीदियां मौजूद रही.