वरीय अधिवक्ता विनय कुमार सिंह नहीं रहे

0
Dead body in a mortuary

परवेज अख्तर/सिवान:
जिला अधिवक्ता संघ के जुझारू अधिवक्ता विनय कुमार सिंह का आज प्रातः गोरखपुर में निधन हो गया। विनय जी को घुटने मे तकलिफ़ थी ।उन्होंने गोरखपुर में अपने घुटने का आपरेशन कराया था जो सफल रहा।वे चलने भी लगे थे।घुटने के सफल आपरेशन से बहुत उत्साहित थे, लेकिन नियति को कुछ और मंजूर था।प्रातः11.30 बजे उनका पार्थिव शरीर संघ भवन परिसर में लाया गया जहां संघ अध्यक्ष पाण्डेय रामेस्वरी प्रसाद,सचिव प्रेम कुमार सिंह और वरीय अधिवक्ता वीरेंद्र सिंह ने श्रद्धा सुमन अर्पित किये।विनय कुमार सिंह ने 1982 से विधि ब्यवसाय कर रहे थे।उन्होंने जिला अधिवक्ता संघ के कार्यकारिणी के कई अदो को सुशोभित किया। रविवार होने के बावजूद भी विनय कुमार सिंह को सैकड़ो अधिवक्ताओ ने श्रद्धा सुमन अर्पित किया।वे अपने पिछे पत्नी दो पुत्रियां ओर एक पुत्र छोड़ गए है। संघ के पूर्व अध्यक्ष के निधन के शोक से सदस्य अभी उबरे भी नही थे, इसी बीच विनय बाबू की मृतयु ने झकझोर दिया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

सोमवार को प्रातः 11:30 बजे जिला अधिवक्ता संघ में शोक सभा का आयोजन किया जाएगा।शोक सभा की अध्यक्षता संघ अध्यक्ष पांडेय रामेस्वरी ने किया।विनय बाबू के ब्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए संघ अध्यक्ष ने कहा कि विनय जी ने कभी मूल्यों से समझौता नही किया।वे अत्यंत ही निर्भीक ब्यक्ति थे,उनका आचरण आज के लोगों के लिये अनुकरणीय है।वरीय अधिवक्ता वीरेंद्र सिंह ने उनकी मृतयु को संघ की भारी क्षति बताया । इस अवसर पर वरीय अधिवक्ता राजेश कुमार सिंह, प्रमोद रंजन,श्रीनिवास सिंह,पूर्व सचिव राजीव रंजन राजू , सुनील कुमार सिंह ,बलराम प्रसाद ,दिनेश कुमार सिंह,कल्पनाथ सिंह,महेश कुमार श्रीवास्तव ,गणेश राम, प्रकाश चंद्र शर्मा,सुरेश शर्मा,संघ कर्मी जवाहर चौधरी समेत सैकड़ों लोग उपस्थित थे।