गोपालगंज के उचकागांव में गोली मारकर शम्भू मिश्र की हत्या

0
firing
  • बड़वा धाम पर हुई घटना
  • घटना के बाद दहशत का माहौल

परवेज अख्तर /गोपालगंज:-जिले में एक बार अपराधियों का मनोबल और बढ़ने लगा है जिसके कारण आम व खास लोगों में काफी भय का माहौल कायम हो गया है।मिली जानकारी के मुताबिक उचकागांव थाना क्षेत्र के बाबा भूतनाथ बडवा धाम आश्रम के ठीक सामने किसान भवन में वर्षों से रह रहे गोपालगंज जिले के कटेया थाना क्षेत्र के बभनी गांव निवासी ठेकेदार शंभू मिश्रा की हत्या एक बाइक से आए हेलमेट पहने दो अपराधियों द्वारा गोली मारकर कर दी गई। घटना शनिवार की सुबह की है। जब कटेया थाना क्षेत्र के बभनी गांव निवासी 52 वर्षीय शंभू मिश्रा बाबा भूतनाथ बडवा धाम आश्रम के ठीक सामने बने सरकारी किसान भवन के सामने चबूतरे के योगा करने के बाद बगल की कुर्सी पर बैठकर किसी से मोबाइल पर बात कर रहे थे। तभी उनकी हत्या कर दी गयी।बताया जा रहा है कि शंभू मिश्रा पिछले 15 वर्षों से बाबा भूतनाथ बड़वा धाम आश्रम के ठीक सामने स्थित सरकारी किसान भवन पर कब्जा करके अपने साथी अतुल उपाध्याय और एक रसोईया के साथ रह रहे थे।रसोइया भोजन बनाता था और दोनों लोग रहते थे।

प्रतिदिन की भांति मॉर्निंग वॉक करने के बाद वो किसान भवन के बाहर व्यायाम करने के बाद कुर्सी पर बैठकर किसी से मोबाइल पर बात कर रहे थे। इसी दौरान एक बाइक पर सवार होकर मीरगंज के तरफ से हेलमेट पहने हुए दो अपराधी उनके पास पहुंचे। इस दौरान जैसे ही अपराधियों द्वारा अपने कमर से हथियार निकालना शुरू किया गया। वैसे ही शंभू मिश्रा किसान भवन के अंदर जाकर कमरे का दरवाजा बंद करने का प्रयास किया। परंतु अपराधियों द्वारा दरवाजा पर धक्का-मुक्की करना शुरू कर दिया गया। इस दौरान एक अपराधी द्वारा दरवाजे पर भी एक गोली फायर कर दिया गया। जिसके बाद शंभू मिश्रा दरवाजा छोड़कर कमरे के अंदर बने शौचालय की तरफ भागने लगे। जहां अपराधियों द्वारा उन्हें दौड़ाकर एक गोली दाग दी गई।

जिसके बाद जख्मी शंभू मिश्रा अपराधियों को धक्का देकर किसान भवन के बाहर भागने का प्रयास किए। जैसे ही वह किसान भवन से महज 20 फीट की दूरी पर पहुंचे पीछा कर रहे अपराधियों द्वारा उनके कनपटी, माथे, सीने और पीठ पर गोली मारकर हत्या कर दी गई। घटना के समय उनका रसोईया किसान भवन के किचन वाले कमरे में छुप गया। वैसे किसान भवन के कमरे में रह रहे शंभू मिश्रा के साथी अतुल उपाध्याय के गिड़गिड़ाने पर अपराधियों द्वारा उन्हें छोड़ दिया गया। घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी बाइक पर सवार होकर लुहसी बाजार की तरफ रवाना हो गए। घटना के बाद बाबा भूतनाथ बड़वा धाम आश्रम और नवोदय विद्यालय के आसपास के क्षेत्रों में दहशत व्याप्त हो गया।

सूचना मिलने पर अपर थानाध्यक्ष कृष्ण कुमार, गुरुदेव प्रसाद, विनोद कुमार यादव, हरेंद्र पांडेय आदि पदाधिकारियों के द्वारा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचकर मृतक शंभू मिश्रा के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया। ग्रामीणों का कहना है कि वे चार दिनों पूर्व ही अपने गांव से यहां आएं थे,पोस्टमार्टम के बाद जैसे ही उनके शव को उनके गांव लाया गया ,हजारों की भीड़ उनके दरवाजे पर उमड़ पड़ी,सभी शम्भू का एक झलक पाने को बेताब थे,बाद में उनका अंतिम संस्कार गांव के समीप ही कर दिया गया,एसडीपीओ अशोक चौधरी, मीरगंज इंस्पेक्टर सतीश कुमार हिमांशु के द्वारा भी घटना की जानकारी ली गई। वहीं अपराधियों की धरपकड़ के लिए छापेमारी शुरू कर दिया गया है।समाचार लिखे जाने तक मामले की प्राथमिकी दर्ज नही की जा सकी है।इलाके में दहशत ब्याप्त है बड़वा मठ के साधु संतों व अन्य लोगों में भी दहशत का माहौल कायम है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here