सिवान: प्रेमी से बात करते हुए प्रेमिका ने दी जान

0
fhansi

परिजनों ने कहा शादी के लिए करता था प्रताड़ित, मानसिक तनाव में लगाई फांसी

परवेज अख्तर/सिवान: नगर थाना क्षेत्र के विशेश्वर पुरम में रविवार की देर रात 11:00 बजे मेडिकल की छात्रा ने अपने प्रेमी से बात करते हुए फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतका की पहचान छपरा के श्री नंदन पथ निवासी सवालिया प्रसाद सिंह के 26 वर्षीय पुत्री निवेदिता भारद्वाज के रूप में हुई है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जाता है कि प्रेमिका- अपने प्रेमी से बे इम्तिहान मोहब्बत करती थी। प्रेमी भी शादी करने के लिए शुरू से ही तैयार था। लेकिन लड़की के परिवार वाले इसके लिए राजी नहीं थे। कहा जा रहा की युवती ने परिवार वालों के दबाव की वजह से दुपट्टे का फंदा बनाकर आत्महत्या कर लिया। जबकि मृतका के पिता ने नगर थाने में आवेदन देकर जबरदस्ती शादी करने के नियत और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने संबंधित शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस पूरे मामले की जांच शुरू कर दी है।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

मृतका के पिता सवालिया प्रसाद सिंह ने कहा है कि

मेरी 26 वर्षीय पुत्री निवेदिता भारद्वाज दयानंद आयुर्वैदिक महाविद्यालय सीवान की छात्रा थी। जो नगर थाना क्षेत्र के विशेश्वर पुरम में सुरेंद्र कुमार सिंह के किराए की मकान में रहती थी। उसी के साथ एक वर्ष सीनियर मेडिकल छात्र सीवान जिले के भगवानपुर हाट थाना क्षेत्र सुधरी कौड़िया निवासी अशोक सिंह का 26 वर्षीय पुत्र आलोक मनी ने बार-बार मेरी पुत्री से शादी करने के लिए जोर जबरदस्ती के साथ हमेशा मानसिक रूप से प्रताड़ित करता रहा था। इस मामले में मैंने उनके पिता अशोक सिंह से कई बार शिकायत भी किया था। लेकिन कोई परिवर्तन नहीं हुआ। रविवार की रात तकरीबन 11:00 बजे मेरी पुत्री के मकान मालिक सुरेंद्र कुमार सिंह के द्वारा फोन कर कहा गया कि आप की पुत्री ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया है। सूचना के आधार पर मैं रात्रि में जब उसके कमरे में पहुंचा तो देखा कि मेरी पुत्री दुपट्टे से फांसी का फंदा बनाकर लटकी हुई थी। मृतक़ा के दोनों कानों में मोबाइल का हेडफोन लगा हुआ था। घटना के बाद उन्होंने पुलिस को जानकारी दी। बताया कि मेडिकल के छात्र द्वारा मेरी पुत्री को मानसिक प्रताड़ना के कारण ही वह फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।