सिवान: नये पीढ़ी के नायक थे शहीद कॉमरेड चंद्रशेखर:- माले

0

परवेज अख्तर/सिवान: भाकपा माले जिला सचिव हंसनाथ नाम ने कहा कि 31 मार्च 1997 को जेएनयू पूर्व अध्यक्ष शहीद चंद्रशेखर की हत्या कर दिया गया. देश में बढ़ते सामंती सांप्रदायिक फासीवादी आहट को चंद्रशेखर ने 1992 में बाबरी मस्जिद विध्वंस के समय ही पहचान लिए थे. एक नई समाज नई व्यवस्था निर्माण करने के मकसद से प्रयोग स्थली के बतौर अपना गृह जिला सीवान को चुना. माले व राजद के जो भी संघर्ष हुआ उसका तह में सामंती सांप्रदायिक फासीवादी ताकतें आरएसएस-भाजपा हैं. मोहरा बनाकर लड़ाने का काम किया. मां-बाप का एकलौता बेटा चंद्रशेखर नई पीढ़ी के नायक के चमकते सितारे के समान उभर रहे थे. आरएसएस-भाजपा जब से सत्ता में आई हैं. देश को 100 वर्ष पीछे ले जाने के मकसद से हर विरोधी आवाज को कुचलने का काम कर रही है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

jansbha

जैसे वामपंथ के गढ़ कहे जाने वाले एक से एक सितारा पैदा करने वाले जेएनयू को भाजपा सरकार पहले बंद कराने की कोशिश की फिर कई गुना फीस बढ़ाई उसके बाद हमला करवाई उसी तरह जामिया मिलिया, अलीगढ़, बनारस इत्यादि विश्वविद्यालयों में, दिल्ली विधानसभा में हारने के बाद दंगा करा दी. बिहार विधानसभा में तो विधयको के ऊपर हमला कराई यह लोकतंत्र की हत्या नहीं तो और क्या है. विधायक सत्यदेव राम व अमरजीत कुशवाहा नेता द्वय ने कहा कि शिक्षा-रोजगार, महंगाई स्वास्थ जैसे बुनियादी समस्याओं पर सदन में बहस नहीं होगा हमेशा दो नंबर के सवालों पर उलझा कर रखने वाले पर बहस होगा. बुनियादी सवालों पर उभरते आंदोलन को कुचलने के मकसद से बिहार में पुलिस एक्ट कानून लाई है. जिससे बिना केस के किसी को कभी भी गिरफ्तार कर सकती है. 4 माह से ज्यादा हो गए देश के अन्नदाता किसान बिल वापस करने के लिए धरना पर बैठे हैं. 200 से ज्यादा किसान मर गए लेकिन किसान के चिंता नहीं अडानी-अंबानी का चिंता है. किसान आंदोलन के ऊपर दमन किया जा रहा है.

male

शहीद कामरेड चंद्रशेखर जी के शहादत दिवस पर सभी लोगों ने संकल्प लिया कि आरएसएस-भाजपा देश को 100 वर्ष पीछे ले जाना चाहती है, नहीं जाने देंगे. लोकतंत्र, संविधान को खत्म करने की कोशिश है, नहीं खत्म होने देंगे. यह कार्यक्रम शहीद कामरेड श्याम नारायण यादव के घर ठेपहा में सबसे पहले फूल माला चढ़ाया गया व सभा किया गया. इसके बाद दो पहिया चार पहिया के साथ काफिले के साथ शहीद कॉमरेड चंद्रशेखर के गांव बिंदुसार में पहुंच वहां फूल माला चढ़ाया गया. इसके बाद वह काफिला गोपालगंज मोड़ पर शहीद कॉमरेड चंद्रशेखर की मूर्ति पर फूल माला चढ़ाया गया वा सभा किया गया. फूल माला चढ़ाने में जिला सचिव हंसनाथ राम, विधायक सत्यदेव राम, अमरजीत कुशवाहा, सोहिला गुप्ता, बच्चा प्रसाद, युगुल किशोर ठाकुर, जयनाथ यादव, मुकेश आदि शामिल थे. सभा को संबोधित विधायक सत्यदेव राम, अमरजीत कुशवाहा, सोहिला गुप्ता ने किया. अध्यक्षता विकास यादव ने किया.