सिवान: हाईवे पर पिकअप वैन से लूटपाट करते रंगेहाथ पकड़ा गया अपराधी

0
  • पुलिस को लूटपाट की घटना से पहले गुजरे साइकिल सवार से मुलाकात हुई जिसने बताया कि अपराधी मोड़ पर हैं
  • चालक का मोबाइल, आधार, आठ सौ रुपए के साथ चाकू बरामद
  • हकाम चौक के समीप बने स्पीड ब्रेकर पर वाहन को धीमा किया था
  • 18 सौ रुपए, मोबाइल, लाइसेंस आधार लूट लिया
  • 03 की संख्या में थे लूटपाट करने वाले अपराधी

परवेज अख्तर/सिवान: शहर से सटे हाईवे पर हकाम चौक के समीप लूटपाट करते एक अपराधी को पुलिस ने रंगेहाथ पकड़ लिया। गुरुवार की सुबह लगभग साढ़े तीन बजे गोपालगंज जिले के मीरगंज अखबार लेकर जा रही एक पिकअप वैन को घेरकर तीन अपराधी चालक से लूटपाट कर रहे थे तभी, पुलिस पहुंच गई। इसके बाद भाग रहे अपराधियों में एक को पीछा कर पकड़ लिया। पकड़ने के दौरान एक अपराधी के साथ होमगार्ड जवान पप्पु साह की खूब हाथापाई हुई, लेकिन उसने बहादुरी का परिचय देते हुए दबोच लिया। प्राप्त जानकारी के अनुसार महाराजगंज निवासी वैन के चालक राजेश कुमार सिंह शहर के जेपी चौक पर सुबह लगभग तीन बजे अखबार उतारने के बाद फिर मीरगंज उतारने जा रहा था। इसी दौरान हकाम चौक के समीप बने स्पीड ब्रेकर पर उसने वाहन को धीमा किया तो तीन अपराधियों ने आकर घेर लिया। फिर चाकू के बल पर 1800 रुपए, मोबाइल, ड्राइविंग लाइसेंस आधार कार्ड लूट लिया। लूटपाट का विरोध करने पर अपराधियों ने चाकू का भय दिखा चालक के साथ मारपीट भी की। इधर पुलिस सूत्रों ने बताया कि हाईवे पर गश्त लगा रही मुफस्सिल पुलिस को लूटपाट की घटना से पहले गुजरे एक साइकिल सवार से मुलाकात हुई जिसने बताया कि तीन अपराधी मोड़ पर हैं जिन्होंने उसके साथ लूटपाट करने की नीयत से घेर लिया था लेकिन उसके पास जब कुछ नहीं मिला तो मारपीट कर छोड़ दिया। इस शिकायत के बाद गश्त लगा रहे पुलिस पदाधिकारी ललन कुमार जवानों को लेकर हकाम मोड़ पहुंचे जहां पिकअप वैन के चालक से अपराधियों को लूटपाट करते देखा। पीछा करने पर दो फरार हो गए लेकिन एक गिरफ्त में आ गया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
metra hospital

लूटपाट की घटनाओं को अंजाम देने की बात स्वीकारा

पुलिस ने घटनास्थल से रंगेहाथ पकड़े गए अपराधी के पास से चालक का मोबाइल, आधार कार्ड, आठ सौ रुपए के साथ चाकू बरामद कर लिया है। पूछताछ के दौरान गिरफ्तार अपराधी ओरामा के नवका टोला निवासी जैलेश्वर सिंह का पुत्र प्रदूमन कुमार सिंह है जिसने अपने दोनों फरार साथियों का नाम शमशेर आलम व कनछेदवा बताया है जो ओरमा के ही रहने वाले है। जानकारी मिलने के बाद मुफस्सिल थानाध्यक्ष विनोद सिंह व महादेवा ओपी के प्रभारी विपिन कुमार पुलिबल के साथ दोनों की गिरफ्तारी के लिए उनके ठिकानों पर छापेमारी शुरू कर दी है लेकिन दोनों अभीतक हाथ नहीं लगे हैं। पुलिस सूत्रों ने बताया कि गिरफ्तार अपराधी ने कई लूटपाट की घटनाओं को अंजाम देने की बात स्वीकार की है। जल्द पूरे गैंग का पता लगा उनकी गिरफ्तारी की जायेगी। पुलिस ने उम्मीद जताई है कि इलाके में फरार दोनों अपराधियों की गिरफ्तारी के बाद लूटपाट की घटनाओं में कमी आएगी।