आंदर में महिला के साथ जबरन सामूहिक दुष्कर्म मामले में चार आरोपित को पुलिस ने किया गिरफ्तार, भेजे गए जेल

0
  • सिवान ऑनलाइन पर न्यूज को प्राथमिकता पूर्वक चलाये जाने के बाद पुलिस महकमे में मची थी खलबली
  • एसपी के संज्ञान में मामला आते ही पुलिस ने की बड़ी कार्रवाई
  • अन्य आरोपितों के गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी

परवेज़ अख्तर/सिवान :- सिवान जिले के आंदर थाना के एक गांव में एक महिला के साथ जबरन सामूहिक दुष्कर्म करने का वीडियो वायरल व सिवान ऑनलाइन न्यूज पर खबर को प्राथमिकता पूर्वक चलाये जाने के बाद पुलिस महकमे में मंगलवार को खलबली मच गई। बाद में इस खबर को एसपी अभिनव कुमार ने प्राथमिकता पूर्वक जांच कर आरोपियों को हर हाल में गिरफ्तार करने का आदेश दिया। जिस पर पुलिस ने त्वरित करवाई करते हुए मंगलवार की शाम वीडियो फुटेज के आधार पर पहचान कर चार आरोपितों को धर दबोचा।और प्राथमिकी संख्या 146/2020 दर्ज करने के बाद बुधवार की शाम गिरफ्तार चारों आरोपितों को सिवान न्यायालय में प्रस्तुत किया। जहाँ न्यायाधीश ने चारों को रिमांड करते हुए जेल की हवा खिला दी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

थानाध्यक्ष कैप्टन शहनवाज ने बताया कि जेल जाने वालों में आंदर थाना के जयजोर गांव निवासी अनिल कुमार गोड़, अभय कुमार राजभर, भरटोलिया गांव निवासी अमित कुमार गोड़ एवं देवरिया जिले के मेहरौना गांव निवासी छोटू चौहान शामिल हैं। उन्होंने बताया कि सामूहिक दुष्कर्म का वीडियो वायरल होने के बाद सभी दुष्कर्मियों की पहचान की गई है।चारों दुष्कर्मियों को मंगलवार की शाम अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार किया गया।असांव थानाध्यक्ष इंद्रदेव महतो ने दरौली थाना के बलहुं गांव के पोखरा के पास से अपने घर से भाग रहे छोटू चौहान को गिरफ्तार कर लिया। आंदर प्रभाग के सर्किल  इंस्पेक्टर रणधीर कुमार व थानाध्यक्ष कैप्टन शहनवाज ने अभय राजभर व अनिल गोड़ को जयजोर गांव व अमित गोड़ को भरटोलिया गांव से गिरफ्तार कर लिया।

duskarm

थानाध्यक्ष ने बताया कि अन्य की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।यहाँ बताते चले कि उक्त घटना की खबर को प्राथमिकता पूर्वक सबसे पहले सिवान ऑन लाइन न्यूज ने चलाया था। खबर वायरल होते ही पुलिस महकमे में खलबली मच गई। बाद में यह खबर एसपी अभिनव कुमार के संज्ञान में जब आई तो एसपी श्री कुमार ने विडियो फुटेज व चल रही खबर की सत्यता की जांच कर कार्रवाई करने का आदेश देते हुए एसआईटी टीम के दारोगा उपेन्द्र कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया। इसके अलावा गठित टीम में आंदर प्रभाग के सर्किल इंस्पेक्टर रणधीर कुमार, आंदर थानाध्यक्ष कैप्टन शहनवाज व आसांव थानाध्यक्ष इंद्रदेव महतो समेत अन्य पुलिस पदाधिकारी शामिल थे। टीम गठन के बाद चल रही खबर की जब जांच पुलिस द्वारा की गई तो खबर व वायरल वीडियो सत्य साबित हुई।

जिस पर गठित टीम ने घटनास्थल का मुआयना करते हुए हल्का चौकीदारों की पुलिस ने मदद ली। बाद में वायरल विडियो फुटेज में सामूहिक दुष्कर्म कर रहे मनचलों की पहचान हल्का चौकीदारों ने की। उसके बाद पुलिस टीम ने एक रणनीति बनाकर घटना में शामिल चार लोगों को धर दबोचा। गिरफ्तार लोगों ने भी पुलिस के सामने अपना-अपना दोष स्वीकार भी किया। बाद में एसपी अभिनव कुमार के निर्देश के आलोक में आंदर थानाध्यक्ष कैप्टन शहनवाज के फर्द बयान के आधार पर थाना कांड संख्या 146/2020 धारा 376(D) ipc 67 iT Act के तहत मामला दर्ज की गई। जिसमे कुल सात लोगों को आरोपित किया गया है। अभी अन्य तीन आरोपितों को पुलिस तलाश कर रही है। जिसके लिए एसआईटी टीम के नेतृत्व में छापेमारी जारी है।

चारों आरोपियों का हुआ मेडिकल जांच

सर्किल इंस्पेक्टर रणधीर कुमार के नेतृत्व में गिरफ्तार चारो आरोपितों का चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर विजय कुमार के द्वारा मेडिकल जाँच की गई। इस सन्दर्भ में पूछे जाने पर डॉक्टर विजय कुमार ने बताया की पूर्ण रूप से जाँच के बाद यह पता चलेगा की कौन-कौन से लोगों द्वारा दुष्कर्म की घटना घटित की गई है।