सिवान: कोविड-19 के संक्रमण को मात दे चुके व्यक्ति भी बरतें सावधानी

0
  • दोबारा आ सकते हैं संक्रमण की चपेट में
  • स्वस्थ्य होने के तीन महीने बाद ले सकते हैं कोविड का टीका
  • साफ़-सफाई और खान-पान का रखें ध्यान

परवेज अख्तर (संवाददाता), सिवान: कोरोना वायरस के संक्रमण से जिला के ग्रामीण इलाकों में लोगों के संक्रमित होने की ख़बरें आ रही हैं. कोरोना के संक्रमण को मात देकर बहुत लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं. लेकिन अभी  स्वस्थ्य हो चुके मरीजों को भी सावधान रहने की जरूरत है. यह बात साबित भी हो चुकी है कि किसी भी व्यक्ति को कोरोना का संक्रमण दोबारा अपनी चपेट में ले सकता है. संक्रमण की बढ़ती रफ़्तार को देखते हुए इस समय और ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है. कई चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मी भी कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और अपनी सेवाएं देने में असमर्थ हैं. ऐसे में सबकी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि सावधानी रखें, सुरक्षित रहें और इस कठिन परिस्थिति में स्वस्थ रहें और संक्रमित होकर स्वास्थ्य सेवाओं पर और दबाव न डालें. विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार कोरोना का संक्रमण इससे एक बार उबर चुके व्यक्ति को भी दोबारा अपनी गिरफ्त में ले सकता है. रिपोर्ट के अनुसार अभी ऐसा कोई साक्ष्य उपलब्ध नहीं है जो सत्यापित करे कि कोरोना का संक्रमण उससे संक्रमित हो चुके व्यक्ति को दुबारा नहीं हो सकता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक घर में रहकर और साफ़ सफाई अपनाकर स्वयं को कोरोना के संक्रमण से सुरक्षित रखा जा सकता है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

स्वस्थ होने के तीन महीने बाद ले सकते हैं कोविड का टीका

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की निर्देशिका में बताया गया है कि कोरोना से संक्रमित व्यक्ति संक्रमण से उबरने के तीन महीने बाद कोरोना का टीका ले सकता है. अगर कोई व्यक्ति टीके का पहला डोज लेने के बाद संक्रमित होता है तो उस स्थिति में भी संक्रमण से उबरने के तीन महीने बाद कोरोना का टीका ले सकता है. टीकाकरण के बाद भी कोविड सुरक्षा मानकों का पालन अनिवार्य रूप से करना जरूरी है क्यूंकि ऐसे कई मामले आये हैं जिसमे टीका का दोनों डोज लेने के बाद भी व्यक्ति संक्रमण की चपेट में आया है.

इन चीजों को करें अपनी दिनचर्या में शामिल

  • घर में रहें और बाहर निकलने से बचें
  • घर से बाहर निकलने पर मास्क का उपयोग करें
  • भीड़ वाली जगहों पर जाने से परहेज करें
  • एल्कोहल युक्त हैण्ड वाश से हाथों की नियमित सफाई करें.
  • नियमित व्यायाम करें और पौष्टिक भोजन ग्रहण करें
  • नशीली चीजों का सेवन न करें