सिवान: अतिक्रमण से मुक्ति की कार्रवाई से सुधरी सिवान जिले की रैकिग

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिला परिषद सभागार में शनिवार को जिलाधिकारी के निर्देशानुसार जिले में संचालित जल जीवन हरियाली से संबंधित योजनाओं की समीक्षा हुई। बैठक की अध्यक्षता उप विकास आयुक्त दीपक कुमार सिंह ने की। इस दौरान जल जीवन हरियाली अभियान, मनरेगा, मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना, नल-जल व नाली गली योजना समेत अन्य योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की गई। साथ ही पदाधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए गए। सभी अंचलाधिकारियों द्वारा अतिक्रमण मुक्त से संबंधित कार्रवाई में प्रगति की गई है। इससे जिले की रैंकिग में सुधार हुआ है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

इस दौरान जिला स्वास्थ्य विभाग के डीपीएम ठाकुर विश्वमोहन ने बताया कि राशि के अभाव में छत वर्षा जल छाजन का कार्य आरंभ नहीं किया गया है। वहीं लघु जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि चार योजनाओं को प्रशासनिक स्वीकृति हेतु विभाग को भेजी गई थी। इसमें से मात्र दो योजना को ही प्रशासनिक स्वीकृति मिल पाई है। जल्द ही निविदा का प्रकाशन कर कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा। ब्रेडा के सहायक अभियंता ने बताया कि जिले के 74 सरकारी भवनों पर सोलर प्लांट अधिष्ठापित कर लिया गया है।

जिला शिक्षा पदाधिकारी मिथिलेश कुमार ने बताया कि 157 भवनों में छत वर्षा जल छाजन का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। शेष के लिए राशि विभाग के पास नहीं है। इस संबंध में विभाग से राशि की मांग की गई है। इसपर डीडीसी ने पदाधिकारियों को जल्द से जल्द अपूर्ण योजनाओं को पूर्ण करने का निर्देश दिया। बैठक के दौरान जिला पंचायती राज पदाधिकारी राजकुमार गुप्ता ने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निर्देशित किया कि सार्वजनिक कुओं के किनारे सोख्ता एवं जीर्णोद्धार कार्य जो पूर्ण कर लिया गया है, उसे अविलंब जल जीवन हरियाली के पोर्टल पर अपलोड करें। उन्होंने 15वें वित्त योजना के तहत ली गई योजनाओं को ससमय पूरा करने का निर्देश दिया।

कहा कि जो भी योजनाएं ली गईं हैं, अगर उनमें से किसी योजना को बदलना है तो परामर्श समिति का अनुमोदन अनिवार्य है। बताया कि पंचायत चुनाव को लेकर अब ना तो मतदाता सूची में नाम ही जोड़ा जाएगा और ना हटाया जाएगा। बताया कि चुनाव को लेकर 19 को प्रशिक्षण दिया जाना है। प्रशिक्षण में प्राप्त निर्देशों का अनुपालन अनिवार्य रूप से करना होगा। उन्होंने सभी सहायक निर्वाची पदाधिकारियों को संवेदनशील व अति संवेदनशील मतदान केंद्रों की सूची तैयार कर सौंपने का निर्देश दिया। बैठक में डीआरडीए निदेशक मृत्युंजय कुमार, प्रभारी जिला परिवहन पदाधिकारी प्रमोद कुमार समेत अन्य वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।