गोपालगंज में बुलडोजर लेकर पहुंची पुलिस-प्रशासन पर पथराव, गार्ड समेत 7 लोग जख्मी

0

गोपालगंज: जिले के पंचदेवरी प्रखंड के मोतीपुर गांव में मंगलवार की शाम बुलडोजर लेकर अतिक्रमण हटाने गई पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प हो गई। हाथापाई व रोड़ेबाजी में 7 लोग जख्मी हो गए। ग्रामीणों में निशा कुमारी, नितेश कुमार चौहान, अजीत कुमार चौहान, मीरा देवी व महेश चौहान जख्मी हो गए। सभी का इलाज गोरखपुर में चल रहा है। जबकि घायल पुलिस गार्ड और हल्का कर्मचारी गोरख प्रसाद का इलाज स्थानीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कराया गया। मामले में स्थानीय सीओ ने कटेया थाने में 15 नामजद व 50 से अधिक अज्ञात लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.16.03 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.24.37 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.13.39 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.18.57 PM

घटना के संबंध में बताया जाता है कि मंगलवार की शाम स्थानीय सीओ आदित्य शंकर व पंचदेवरी पिकेट प्रभारी रियाज हुसैन पुलिस बल के साथ मोतीपुर गांव में अरविंद राय, महेश चौहान, शिवजी शर्मा और बुटाई शर्मा के द्वारा किए गए अतिक्रमण को हटाने गए थे। इस दौरान पुलिस मीरा देवी की गुमटी तोड़ने पर ग्रामीणों से पुलिस की बकझक हो गई। विवाद बढ़ने के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए। ग्रामीणों के उग्र तेवर को देख पुलिस प्रशासन को पीछे हटना पड़ा।

फिर कुछ देर बाद सीओ ने भोरे, कटेया, विजयीपुर कि पुलिस को सूचना देकर बुलाया। पूरी तैयारी के साथ दोबारा देर शाम को अतिक्रमण हटाया। इस दौरान ग्रामीणों और पुलिस के बीच झड़प और हाथापाई हो गई। ग्रामीणों ने रोड़े चलाए।

इन लोगों पर दर्ज हुई प्राथमिकी

पंचदेवरी सीओ आदित्य शंकर ने मामले में कटेया थाने में अरविंद राय, आदित्य राय, सोनू राय, विशाल राय, रंजीत कुमार, बुटाई शर्मा, राजाराम शर्मा, पप्पू शर्मा, महेश चौहान, निशा कुमारी, नितेश चौहान, मीरा देवी, शिवजी शर्मा, गोलू राय सहित 50 से अधिक अज्ञात ग्रामीणों के विरुद्ध सरकारी काम में बाधा डालने, अतिक्रमण हटाने गए पुलिस पदाधिकारी और कर्मचारियों से दुर्व्यवहार कर हमला करने की प्राथमिकी दर्ज कराई है।

ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन पर लगाया आरोप

पंचदेवरी प्रखंड के मोतीपुर में अतिक्रमण हटाने के दौरान हुए विवाद के मामले में ग्रामीणों ने स्थानीय सीओ और पुलिस पर आरोप लगाया है। ग्रामीणों का आरोप है कि अतिक्रमण हटाने की कोई सूचना नहीं दी गई। मीरा देवी की गुमटी में रखे सभी सामान को जेसीबी मशीन से तोड़ दिया गया। वह गुहार लगाती रही। लेकिन कोई सुनने को तैयार नहीं था। उल्टे अपशब्द का इस्तेमाल किया जाने लगा।

लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी ने दिया था आदेश

पंचदेवरी प्रखंड के मोतीपुर गांव स्थित हुए अतिक्रमण को लेकर स्थानीय विधायक अमरेंद्र कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पांडेय ने विधानसभा में भी आवाज उठाई थी। उस जमीन पर सामुदायिक भवन बनाने के लिए विधायक ने प्रस्ताव दिया था। जमीन खाली नहीं होने के कारण भवन का निर्माण नहीं हो सका है। इसके बाद लोक शिकायत निवारण अधिकारी के आदेश के आलोक में स्थानीय सीओ मंगलवार की शाम अतिक्रमण हटाने के लिए गए हुए थे। जहां दोनों पक्षों के बीच जमकर विवाद हो गया।