भगवानपुर के आदित्य के न्याय के लिए स्वजनों ने शुरू किया आमरण अनशन

0

परवेज़ अख्तर/सिवान:
जिले के भगवानपुर थाना क्षेत्र के मीरहाता गांव के पूर्व बीडीसी सदस्य तारकेश्वर साह के नौ वर्षीय पुत्र की बरामदगी को लेकर स्वजनों ने शुक्रवार से भगवानपुर कॉलेज के बरामदे में आमरण अनशन शुरू कर दिया। हाथ में शासन-प्रशासन होश में आओ, जस्टिस फॉर आदित्य, आदित्य को न्याय दो, गरीब-अमीर के न्याय में अंतर क्यों?, सोती सरकार सोती प्रशासन कब मिलेगा आदित्य को न्याय लिखी तख्तियां लेकर स्वजन और शुभचितक आमरण अनशन स्थल पर बैठ गए हैं। इसमें आदित्य के चाचा बालकेश्वर साह, मां लालती कुंवर बहन अंजली कुमारी व रोशनी कुमारी शामिल के अलावा राजीव कुमार उर्फ गांधी शामिल थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
Webp.net-compress-image
a2

चाचा बल्केश्वर साह एवं मां लालती कुंवर ने कहा कि उनके बेटे की बरामदगी के लिए प्रशासन सरकार को सीबीआइ जांच के लिए क्यों ? नहीं लिखती है।थानाध्यक्ष विपिन कुमार ने बताया कि आमरण अनशन की किसी भी स्तर से उन्हें सूचना नहीं मिली है,जबकि बीडीओ डॉ.अभय कुमार ने कहा कि कोरोना काल में इस तरह का आयोजन अनुचित है।ज्ञात हो कि 2019 में एक फरवरी को दरवाजे पर खेलते समय पूर्व बीडीसी सदस्य तारकेश्वर साह के पुत्र आदित्य का अपहरण हो गया था। अपहरण के 32 दिन बाद सहसरांव के मरछिया टोला के समीप धमई नदी के किनारे बोरा में बंद कंकाल मिला था,जिसके कपड़ा एवं गले का लॉकेट से आदित्य का कंकाल के रूप में पहचान हुई थी।