‘जाको राखे साइयां, मार सके न कोय’, कहावत हुई चरितार्थ

0
  • तरवारा पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि पूर्ण रूप से हुए स्वस्थ, मंगवार को अस्पताल से चिकित्सकों ने कर दी छुट्टी
  • असामाजिक तत्वों ने कोरोना से संक्रमित होने की उड़ाई थी अफवाह
  • सिवान ऑनलाइन न्यूज़ ने मुखिया प्रतिनिधि के बारे में उड़ रही अफवाह को एक सप्ताह पूर्व में बताया था निराधार, जो आज हुआ सत्य साबित

परवेज़ अख्तर/सिवान : ‘जाको राखे साइयां, मार सके न कोय’। ये लोकोक्ति आपने कई बार सुनी होगी।फिलहाल उक्त लोकोक्ति उस समय चरितार्थ हुई कि जब पचरुखी प्रखंड के तरवारा पंचायत के पूर्व मुखिया सह वर्तमान मुखिया प्रतिनिधि को चिकित्सकों ने पूर्ण रूप से स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी कर दी।जैसे ही पूर्ण रूप से स्वस्थ होने के बाद अस्पताल से छुट्टी होने की खबर उनके परिजनों व उनके शुभचिंतकों को लगी तो चहुओर खुशी की लहर दौड़ पड़ी। यहां बताते चले कि एक पखवारे पूर्व में मुखिया प्रतिनिधि श्री वशिष्ठ प्रसाद की अत्यधिक तबीयत खराब होने के कारण आनन-फानन में परिजनों ने शुभचिंतकों के साथ मिलकर पटना के एक चर्चित नर्सिंग होम में इलाज हेतु भर्ती कराया था।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

जहां इलाज के पश्चात मुखिया प्रतिनिधि के इच्छा अनुसार परिजनों ने उन्हें दिल्ली के चर्चित बत्रा हॉस्पिटल (Batra Hospital & Medical Research Centre) में इलाज के लिए दाखिल किया। जहां करीब 2 सप्ताह तक चली इलाज के बाद वे पूर्ण रूप से स्वस्थ हो गए। इलाज के पश्चात अस्पताल के चिकित्सकों ने उन्हें मंगलवार को छुट्टी दे दी।आपको बतादूँ की सिवान जिले के पचरुखी प्रखंड के तरवारा पंचायत के पूर्व मुखिया सह वर्तमान मुखिया प्रतिनिधि श्री वशिष्ठ प्रसाद की तबियत जब अचानक खराब हो गई थी कि इसी बीच कुछ असामाजिक तत्वों ने कोरोना से संक्रमित होने की अफवाह उड़ा दी थी। उड़ी अफवाह धीरे-धीरे पूरे पंचायत में जंगल में लगी आग की तरह फैल गई। अफवाहें फैलने के बाद परिजनों तथा उनके शुभचिंतकों में काफी बेचैनी बढ़ गई थी लेकिन पटना में जांच के पश्चात यह मालूम चला कि इलाजरत मुखिया प्रतिनिधि कोरोना से संक्रमित नहीं है।

batra

उन्हें अत्यधिक शुगर के बढ़ जाने से इनकी हालत खराब है। बीच-बीच में ऐसी अफवाहें उड़ रही थी कि मुखिया प्रतिनिधि कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उनके परिवार के अन्य सदस्य भी कोरोना से संक्रमित हो गए हैं।इसके अलावा कई तरह की अफवाहें जोर-शोर से असामाजिक तत्वों द्वारा पूरे पंचायत में उड़ाई जा रही थी।लेकिन “जाको राखे साइयां, मार सके न कोय”,वाली लोकोक्ति उस समय चरितार्थ हुई जब मंगलवार को पूर्ण रूप से स्वस्थ होने के बाद चिकित्सकों ने उन्हें अस्पताल सेे छुट्टी कर दी।

यहां बताते चले कि एक सप्ताह पूर्व सिवान ऑनलाइन न्यूज़ ने मुखिया प्रतिनिधि केेे बारे में उड़ रही अफवाह को निराधार बताते हुए।प्राथमिकता से न्यूज़ को चलाया था।अंततः सिवान ऑनलाइन न्यूज़़ पर चलाई गई खबर मंगलवार को सत्य साबित हुई। इसके लिए मुखिया प्रतिनिधि श्री वशिष्ठ प्रसाद ने सिवान ऑनलाइन न्यूज़ के समस्त कर्मी को धन्यवाद दिया है।श्री प्रसाद ने कहा कि सिवान ऑनलाइन न्यूज़ सिवान वासियों के लिए भरोसेमंद न्यूज़ पोर्टल है जो लगातार कई वर्षों से सत्यता व निष्पक्ष न्यूज़ देने के मामले में यह न्यूज़ पोर्टल कोई कसर नहीं छोड़ता है। उधर सिवान ऑनलाइन न्यूज़ के समस्त कर्मियों ने भी मुखिया प्रतिनिधि की स्वस्थ होने की कामना भी की।