मंदिरों में डकैती व लूटपाट की घटना को ले दहशत

0
mandir

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के असांव थाना क्षेत्र के शंकरपुर गांव में रामजानकी मंदिर से 27 मई की रात मई की रात अज्ञात चोरों द्वारा लाखों रुयए की अष्टधातु एवं पीतल की 11 मूर्तियों की चोरी कर ली थी। इस मामले में 28 मई को मंदिर के सदस्य प्रकाश शर्मा ने अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई थी। जिसका खुलासा करने में पुलिस अभी तक विफल रही है। घटना के अल सुबह करीब साढ़े चार बजे जब प्रकाश शर्मा भगवान का दर्शन करने के लिए पहुंचे तो देखा कि मंदिर का मुख्य द्वार का ताला पहले से ही टूटा हुआ है। उसके बाद गांव के लोगों को इसकी सूचना दी। उसके बाद गांव के लोग मंदिर के पास एकत्रित हो गए मंदिर में देखे तो अष्टधातु एवं पीतल की 11 मूर्तियां गायब थीं और सामान इधर-उधर फेंका हुआ था। प्रकाश शर्मा ने इसकी सूचना असांव थाने को दी। असांव थानाध्यक्ष परशुराम सिंह स्थल पर पहुंच घटना की जांच की लेकिन दो सप्ताह बीतने के बाद भी घटना का खुलासा नहीं हो सका। इसके पूर्व छह फरवरी की रात आंदर थाना के भरौली गांव में अज्ञात चोरों ने भरौली मठिया के राम जानकी मंदिर में घुसकर महात्माओं के साथ मारपीट कर सामान की चोरी कर ली थी। रामजानकी मंदिर के मठाधीश रामनारायण दास ने बताया कि अज्ञात चोरों ने रात में महात्माओं के कुटिया में घुसकर मंदिर की चाबी मांगने लगे। जब चाबी नहीं दिया गया तो उनके साथ मारपीट कर चाबी छीन ली और मंदिर का ताला खोलकर रुपए लेकर भागने के दौरान रामजानकी की मूर्ति को गिराकर भाग गए थे। इस मामले में भी पुलिस अभी तक कुछ नहीं कर पाई है। इस तरह मंदिर में चोरी की घटनाओं पर पुलिस प्रशासन नियंत्रण करने में विफल हो रही है। अब मंदिर की सुरक्षा राम भरोसे निर्भर है।

मंदिर में लूट की जांच को पहुंची डॉग स्क्वायड की टीम के साथ एएसपी

असांव थाना के शंकरपुर एवं मनिया गांव के नहर के समीप नवनिर्माण शिव मंदिर के उपलक्ष्य में होने वाले नौ दिवसीय शिव रुद्र महायज्ञ में लोगों द्वारा दिए गए चंदा स्वरूप पांच लाख रुपया के लूट मामले में रविवार की देर शाम डॉग स्क्वायड की टीम पहुंची। इनके साथ एएसपी कांतेश मिश्रा भी पहुंचे।

Loading...