छपरा में शादी का जोड़ा पहन अपने पिया का इंतजार कर रही है दुल्हन, दूल्हे के पिता ने बारात लाने से किया इंकार

0

छपरा: दहेज लोभी किस हद तक गुजर सकते हैं इसका उदाहरण देखना हो तो एक बार सारण जिले के मशरक थाना क्षेत्र के हरपुरजान गांव की बेटी के आंसुओं को देख लीजिए। जिनमें खुशियों के बीच उस पल का दुख बसा हुआ है जब उसके होने वाले पति ने बारात लाने से मना कर दिया और इसके पीछे वजह थी…समाज का नासूर दहेज। जिसकी मांग न पूरी होने पर दूल्हे और उसके परिवार ने रविवार को आने वाली बारात को दहेज में बाइक नही मिलने पर रोक लगा दी है।बता दें कि मामला मशरक थाना क्षेत्र के हरपुरजान गांव का है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

जहां रहने वाली गुड़िया कुमारी पिता बृजेश राम मां चन्द्रावती देवी की शादी मशरक थाना क्षेत्र के ही लखनपुर गांव के जगलाल राम के पुत्र धर्मेंद्र राम से तय हुई थी और रविवार 21 नवम्बर की रात गुड़िया के दरवाजे बारात आनी हैं। जिसके स्वागत के लिए पूरी तैयारी चल रही हैं। गुड़िया भी सोलह श्रृंगार के लिए ब्यूटी पार्लर से श्रृंगार कर विधि विधान में लगी थी, तभी गुड़िया के पिता के मोबाइल पर लड़के के पिता के द्वारा फोन पर बाइक नही मिलने पर शादी कैंसिल करने की बात बताई और उन्होंने बताया कि बाइक दहेज में नही दिए हैं।इसलिए बरात लेकर नहीं आएंगे।

आगे बता दें कि इस पर शादी के लिए तैयार बैठी दुल्हन गुड़िया की मां चन्द्रावती देवी ने लड़के वालों पर ढे़र लाख रुपये दहेज में देने की बात बताई वही जबरदस्ती बारात के दिन ही बाइक की मांग कर बारात लाने से इंकार कर दिया। मामलेे में थाने की पुलिस को लड़की वालों ने प्रार्थना पत्र लेकर लड़के वालों पर उचित कार्रवाई करने की मांग किया है।

 

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here