जिलाधिकारी ने की स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा, बोले- दवा और एंबुलेंस की रखें समुचित व्यवस्था

0
  • नियमित टीकाकरण के लक्ष्य को करें हासिल
  • अस्पतालों में साफ-सफाई का रखें विशेष ख्याल
  • सभी पीएचसी मरीजों को उपलब्ध कराएं खाना

छपरा: जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने समाहरणालय सभागार में स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा बैठक की। सिविल सर्जन सहित पीएचसी के सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक के साथ स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षात्मक बैठक में जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि अस्पतालों में साफ-सफाई, पेयजल, शौचालय की समुचित व्यवस्था रखी जाये और सभी जगह रोगी कल्याण समिति की बैठक कराकर परिसर का रंगरोदन करा दिया जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि एजेंसी से बात कर सभी पीएचसी मे मरीजों को खाना उपलब्ध करायी जाये। प्रत्येक पीएचसी पर निर्धारित संख्या में दवाई की उपलब्धता सुनिश्चित करायी जाये एवं पीएचसी से दवाई संबंधित माँग पत्र मिलते ही उसकी आपूर्ति करा दी जाये। ऐसा नही होने पर जबाबदेही निर्धारित की जाये एवं दोषी व्यक्ति को दंडित किया जाये।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

dm nirdesh

सदर अस्पताल में शुरू होगी डेंटल सर्जरी

जिलाधिकारी के द्वारा 14 दिसम्बर को जिले के वरीय पदाधिकारियों से सभी पीएचसी सहित रेफरल अस्पतालों की जाँच करायी गयी थी। स्वयं जिलाधिकारी के द्वारा सदर अस्पताल की जाँच की गयी थी और सिविल सर्जन तथा डीपीएम को आवश्यक निदेष दिया गया था। समीक्षा बैठक में सिविल सर्जन ने बताया कि सदर अस्पताल में सभी चिंहित जगहों पर सीसीटीवी कैमरा लगाया जा रहा है एवं जो कैमरे खराब हो गये थे, उनको भी ठीक कराया जा रहा है। पेइंग वार्ड ठीक कराया जा रहा है। शनिवार से डेंटल सर्जरी भी प्रारंभ हो जाएगी। अभी प्रतिदिन 40 सर्जरी की जा रही है। इस पर जिलाधिकारी के द्वारा प्रतिदिन 60 सर्जरी कराने का निर्देश दिया गया एवं कहा गया कि अस्पताल के अंदर बिचैलिया दिख जाय तो उसे पकड़ कर पुलिस के हवाले किया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि इसके लिए चार गृहरक्षी दिया जा रहा है। जिन्हें रात्रि पहर ड्यूटी पर लगाया जाये।

विभागीय निर्देश का अनुपालन कर रोस्टर बनाएं

जिलाधिकारी ने कहा कि प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी अपने से चिकित्सकों का रोस्टर नहीं बनाये बल्कि विभागीय निर्देश का अनुपालन करते हुए रोस्टर बनाया जाये। जिलाधिकारी के द्वारा सोनपुर, मशरख, अमनौर, दिघवारा एवं मढ़ौरा के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों के कार्यों के प्रति नाराजगी व्यक्त की गयी तथ अमनौर और मषरख के एमओआईसी के विरुद्ध प्रपत्र ’क’ गठित करने का निदेष दिया गया।

नियमित टीकाकरण का लक्ष्य हासिल करें

जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि जननी बाल सुरक्षा योजना के लाभुकों को भुगतान करने, आयुष्मान भारत के तह्त गोल्ड कार्ड बनाना पूर्ण आरंभ करने, रुटीन इम्यूनाइजेशन का लक्ष्य हासिल करें। बैठक में सिविल सर्जन ने बताया कि 23 दिसम्बर से 9 माह से पाँच वर्ष के सभी बच्चों को विटामिन ए का खुराक पिलाने के लिए अभियान चलाया जाना है। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि इसके लिए सभी आषा, आंगनबाड़ी सेविका-सहायिका को प्रशिक्षित कर माइक्रोप्लान बना लें तथा ध्यान रखेंगे कि कोई भी बच्चा इस अभियान में छुटना नही पाये।