महिला संग आपत्तिजनक हालत में मिला अधेड़ तो भड़के ग्रामीण, मुंह में कालिख पोती, सर के बाल मुड़वाए फिर गांव में घुमाया

0

अररिया: जिले में अधेड़ पुरूष का एक महिला के साथ प्यार जताना भारी पड़ गया। घटना रानीगंज थाना क्षेत्र के खरहट पंचायत स्थित बेतोना गांव की है। आपत्तिजनक अवस्था में महिला के साथ अधेड़ को देखते हुए ग्रामीण भड़क उठे। इसके बाद इन आक्रोशित ग्रामीणों ने न सिर्फ अधेड़ को खूंटे से बांधकर पिटाई की बल्कि इस दौरान उसका सर मुड़ाकर कालिख पोतकर चप्पल जूते का माला पहनाकर गांव भी घुमाया। सूचना पर पहुंची रानीगंज पुलिस ने किसी तरह अधेड़ को ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ाकर थाना लाया। हालांकि मामले को लेकर बाद में ग्रामीणों ने लीपापोती करने के लिए मेराथन पंचायत भी की है।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

ग्रामीणों ने बताया कि यह अधेड़ इस महिला के साथ पूर्व में भी कई बार आपत्तिजनक हालत में पकड़ा जा चुका है। लेकिन गांव के लोगों द्वारा कोई दंड नहीं मिलने से इस तरह की घटना बराबर हो रही है। दरअसल खरहट पंचायत के बेतौना गांव के राजू राय को एक महिला के साथ रविवार की अहले सुबह लोगों ने आपत्तिजनक हालत में पकड़ा। इसके बाद गांव के दर्जनो लोगों ने राजू राय को एक खूंटे से बांधकर पहले जमकर पिटाई की। पिटाई के बाद लोगों ने युवक को सर मुंडा कर कालिख पोत दिया। इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल भी कर दिया। हालांकि खूंटे से बंधे राजू राय कई बार लोगों से मारपीट न करने की गुहार लगाते रहे लेकिन लोगों ने राजू राय की पिटाई करते रहे। पिटाई के दौरान ही किसी ने घटना की जानकारी रानीगंज पुलिस को दी। इसके बाद मौके पर रानीगंज थाना के दारोगा हरेंद्र कुमार अचल पहुंचकर अधेड़ को ग्रामीणों के कब्जे से छुड़ाकर रानीगंज थाना लाया।

पीड़ित राजू राय ने बताया कि नए साल के मौके पर महिला के यहां खाने पीने गए थे। इस दौरान लोगों ने महिला के आंगन से पकड़कर बाहर निकाल दिया। इसके बाद लोगों ने खूब पिटाई भी की। राजू राय ने बताया की लोगों ने खूंटे से बांधकर मेरा हाथ तोड़ दिया है। वहीं इस घटना को लेकर किसी भी व्यक्ति या महिला ने रानीगंज थाना में आवेदन नहीं दिया है। मामले को लेकर रानीगंज थानाध्यक्ष कौशल कुमार ने बताया कि अबतक किसी ने कोई शिकायत नहीं की है। आवेदन मिलने पर जांच कर कार्यवाई किया जायेगा। किसी को भी कानून को हाथ में लेने का अधिकार नहीं है।