थानेदार ने सचिवालय की महिला कर्मी को कहे अपशब्‍द….SSP ने दिए जांच का आदेश

0

पटना: मोबाइल झपटमारी की शिकायत करने गई महिला कर्मी को पुलिसकर्मियों ने रिसिविंग देने से इंकार कर दिया। इसके बारे जब थानेदार से बात की गई तो उसने ना केवल महिला से गलत तरीके से बात की। बल्कि बाप को बुला लाने जैसे अपशब्द भी कहे। पीड़ित ने पूरी घटना का वीडियो बना लिया है। यह वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

इस मामले में जब सचिवालय डीएसपी काम्या मिश्रा से बात की गई तो वे थानेदार का बचाव करती दिखीं। उन्होंने कहा कि मामला संज्ञान में है। थाने में ऐसी घटना होती रहती है। महिला खुद पुलिस कर्मियों से बदतमीजी कर रही थी और उनका वीडियो बना रही थी। उन्होंने कोई कार्रवाई करने से इंकार कर दिया।

पीड़िता प्रीती परिवार के साथ गुलजारबाग के कुम्हार कालोनी में रहती हैं। वह राजस्व विभाग में असिस्टेंट के पद पर तैनात हैं। सोमवार को वह छुट्टी के समय शाम करीब पांच बजे सचिवालय थाना के सामने सप्तमूर्ति के पास खड़े होकर अपनी महिला मित्र बात कर रही थीं। तभी दो बाइक सवार बदमाश वहां आए और प्रीती का मोबाइल झपट फरार हो गए थे। प्रीति शिकायत का आवेदन लेकर सचिवालय थाने गई थीं। पीड़िता के मुताबिक पुलिस ने पहले तो शिकायत लेने से मना कर रही थी।

लेकिन वह मुकदमा दर्ज करवाने पर अड़ी रहीं तो पुलिसकर्मियों ने उन्हें शिकायत की रिसिविंग देने से इंकार कर दिया। थानेदार चंद्र शेखऱ गुप्ता ने उनके साथ अभद्र व्यवहार किया। इसका विरोध करने पर थाना प्रभारी ने उन्हें कहा कि बाप को बुला लाओ देख लेंगे। इस घटना से पीड़िता काफी आहत हैं। इधर पटना के SSP ने घटना के जांच का आदेश दिया है। SSP ने ASP सचिवालय को पूरे मामले को जांच करने का आदेश दिया है।