तरवारा बाजार के बसंतपुर-तरवारा रोड स्थित एक मेडिकल हाल के निजी क्लीनिक चलाने व प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री की शिकायत पर टीम ने की जांच

0
  • लिंग जांच व प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री का आरोप
  • मामले को रफा-दफा करने को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के जी.बी. नगर तरवारा थाना क्षेत्र के बसंतपुर-तरवारा रोड स्थित एक मेडिकल हाल के बेसमेंट में लिंग जांच व प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री की शिकायत पर एसडीओ रामबाबू बैठा के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मंगलवार को जांच की। टीम में शामिल पदाधिकारियों ने दवा दुकान के स्टाक सहित अन्य महत्वपूर्ण कागजातों की जांच की। इस दौरान टीम ने प्रतिबंधित दवाओं को जब्त कर उनका सैंपल एकत्रित किया। स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा छापेमारी की सूचना के बाद क्षेत्र में अवैध रूप से क्लीनिक व दवा दुकान का संचालन करने वालों में हड़कंप मच गया।मामले में टीम का नेतृत्व कर रहे जिला यक्ष्मा पदाधिकारी डा. अनिल कुमार सिंह ने बताया कि तरवारा बाजार स्थित अंसार मेडिकल हाल के बेसमेंट में अवैध रूप से निजी क्लिनिक चलाने व प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री करने की शिकायत सदर एसडीओ रामबाबू बैठा के यहां की गई थी। इसको लेकर एसडीओ ने सिविल सर्जन को टीम बनाकर जांच करने का निर्देश दिया । सीएस के निर्देश पर टीम गठित कर जांच की गई। जांच के क्रम में स्टाक की गहनतापूर्वक जांच की गई। जांच रिपोर्ट सिविल सर्जन को सौंपी जाएगी। जांच टीम में ड्रग इंस्पेक्टर व एमओआइसी शामिल थे।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

लिंग जांच व प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री का आरोप

बता दें कि शिकायतकर्ता ने उक्त मेडिकल हाल के संचालक नेसार कुरैशी पर लिंग जांच व प्रतिबंधित दवाओं की बिक्री की शिकायत एसडीओ से की थी। शिकायत कर्ता ने एसडीओ को बताया था कि उक्त मेडिकल हाल के बेसमेंट में चोरी छुपे लिंग जांच की जाती है। यहां बिचौलियों के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को बुलाया जाता है और लिंग जांच कर भ्रूण हत्या की घटना को अंजाम दिया जाता है।

मामले को रफा-दफा करने को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म

छापेमारी टीम द्वारा जब निजी क्लीनिक में छापेमारी की गई तो वहां काफी संख्या में लोगों की भीड़ एकत्रित हो गई। इसके बाद देर शाम तक चली छापेमारी को लेकर बाजार में इस बात की चर्चा जोरों पर रही की क्लीनिक संचालक द्वारा मामले को रफा-दफा करने का प्रयास किया गया। हालांकि देर शाम तक टीम द्वारा मामले में जांच रिपोर्ट वरीय अधिकारी को सौंपने की बात कही गई।