मांझी के राम घाट पर हजारों श्रद्धालुओं ने पवित्र सरयू नदी में किया स्नान

0

माँझी: कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर माँझी के राम घाट पर हजारों श्रद्धालुओं ने पवित्र सरयु में स्नान किया तथा स्थानीय हनुमान वाटिका में पूजा अर्चना की। श्रद्धालु शुक्रवार को अहले सुबह से ही नदी में डुबकी लगाने उमड़ पड़े। दोपहर तक भीड़ भाड़ का माहौल रहा। उधर हनुमान गढ़ी मन्दिर परिसर में अखंड रामायण पाठ के समापन के पश्चात आयोजित भंडारा में दर्जनों साधु संत व सैकड़ों श्रद्धालु शामिल हुए। इस दौरान श्रद्धालुओं की सुरक्षा को लेकर स्थानीय प्रशासन द्वारा पुख्ता इंतजाम किया गया था। पुलिस के जवान लगातार भीड़ को नियंत्रित व आवागमन को दुरुस्त करने में लगे रहे। मांझी के थानाध्यक्ष विकास कुमार सिंह खुद नाव पर सवार होकर कर घाटों का सघन निरीक्षण कर रहे थे। राम घाट पर माँझी पीएचसी द्वारा मेडिकल कैंप लगाया गया था जहां कोविड-19 का टीका लगाया जा रहा था। नदी में स्नान करने आये महिला व पुरुषों की सुरक्षा को लेकर बेरिकेटिंग की गई थी तथा उसके अंदर ही नहाने की बार बार हिदायत दी जा रही थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

भीड़ के मद्देनजर माँझी रेलपुल पर रेल पुलिस के जवान तैनात किए गए थे। समाजसेवी कृष्णा सिंह पहलवान की देखरेख में दर्जन भर गोताखोर लगातार नाव से गश्त करते रहे। एसआई शिवनाथ राम के नेतृत्व में पुलिस के जवान मांझी चट्टी पर भीड़ को नियंत्रित करने में व्यस्त रहें। मेले में काफी भीड़ होने के कारण राम घाट तक जाने वाली सड़क पर वाहनों के परिचालन पर रोक लगा दिया गया था। भीड़ के कारण माँझी छपरा एवं माँझी ताजपुर तथा माँझी बलिया मुख्य मार्ग पर छोटी बड़ी गाड़ियों का भयंकर जाम लगा रहा। इस वजह से राहगीरों को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। रामघाट के अलावा करीब दर्जन भर घाटों पर स्नानार्थियों की भीड़ देखी गई। मांझी चट्टी पर सड़क किनारे मेला लगा हुआ था तथा मेले में जलेबी छोला पकौड़ी सौंदर्य प्रसाधन के अलावा मिट्टी के परम्परागत बर्तन व झूले आदि की ओर लोग आकर्षित हो रहे थे।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here