जाली नोट व चोरी की बाइक के साथ तीन गिरफ्तार

0
jali

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के गोरेयाकोठी थाना क्षेत्र के सिवान-मलमलिया मुख्य पथ एनएच 73 पर आज्ञा गांव स्थित किसान सेवा केंद्र पेट्रोल पंप स्थित थानाध्यक्ष उदय कुमार सिंह ने बुधवार को जाली नोट और चोरी की बाइक के साथ तीन युवकों को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार युवकों के पास से 500 रुपये का एक तथा 200 रुपये के पांच जाली नोट तथा चोरी की अपाची बाइक बरामद किया। गिरफ्तार युवकों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर उन्हें पूछताछ के बाद जेल भेज दिया। बरामद जाली नोट को सील कर इसकी सूचना सरकार और वरीय प्रशासन को दी है। गिरफ्तार युवकों में जामो थाना क्षेत्र के मराछी निवासी आशीष कुमार सिंह उर्फ अमित सिंह, गोरेयाकोठी थाना क्षेत्र के लाको टोला निवासी रंजीत शर्मा तथा सरारी निवासी मोनु दुबे शामिल है। घटना के संबंध में बताया जाता है कि सिवान-मलमलिया स्टेट हाइवे 73 स्थित आज्ञा किसान सेवा केंद्र पेट्रोल पंप के पास दो बाइक के साथ चार युवक खड़े थे। इनकी गतिविधि को देख वहां से गुजर रही पुलिस हरकत में आई और उन युवकों के पास पहुंच कर तलाशी लेनी शुरू की। तलाशी दौरान इन युवकों के पास से एक पांच सौ के तथा पांच दो सौ का जाली नोट बरामद किया जबकि एक युवक पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। पुलिस इन लोगों को गिरफ्तार कर थाना लाई और पूछताछ की। पूछताछ क्रम में बरामद बाइक भी चोरी की निकाली। पूछताछ के दौरान गिरफ्तार युवकों ने कई लोगों के इस कारोबार में जुड़े रहने का खुलासा किया है जिसे पुलिस गंभीरता से लेते हुए आगे की कार्रवाई में जुट गई है। थानाध्यक्ष ने बताया गिरफ्तार युवकों के साथ एक और युवक था जो पुलिस का चकमा देकर फरार हो गया। फरार युवक सिसवन थाना क्षेत्र के नोनियापट्टी निवासी अंकित दुबे है। इन धंधेबाजों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस गुरुवार की सुबह जेल भेज दी तथा फरार युवक की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है। ज्ञात हो कि इसके पूर्व एक अक्टूबर,18 को बसंतपुर थाना क्षेत्र के बलथरा निवासी पंकज कुमार पड़ित को 55 हजार जाली नोट तथा नोट छापने वाला मशीन के साथ गिरफ्तार किया था और इसके निशानदेही पर भगवानपुर थाना क्षेत्र के चोरमा निवासी अंशु कुमार, खोरीपाकर निवासी दिनेश सहनी तथा सारण जिले के कोपा थाना क्षेत्र के चतरा निवासी राजेश कुमार को गिरफ्तार किया था। इन लोगों की गिरफ्तारी से जाली नोट के बड़ा गिरोह का पर्दाफाश हुआ था। लोगों का कहना है कि यदि पुलिस उसी समय इस धंधे में संलिप्त कई हस्तियां का नाम का पर्दाफाश करती तो इसके घेरे में कई लोग आते लेकिन ऐसा नहीं करने इस धंधे पर विराम नहीं लग सका है। थानाध्यक्ष ने बताया कि गिरफ्तारी युवकों ने इस धंधे में संलिप्त कई हस्तियों के नाम के खुलासे किए हैं जिसकी पुलिस गंभीरता से लेते हुए आगे की कार्रवाई में जुट गई है।