अनदेखी: बड़हरिया वासियों को अपराधिक घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि को लेकर याद आने लगे मनोज तो दूसरी तरफ पुलिस की निष्क्रियता पर उठ रहे हैं कई सवाल ?

0
  • चोरी की घटना के बाद प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए जाने पर खदेड़ रही है पुलिस
  • बड़हरिया में मोटरसाइकिल, मकान, दुकान में चोरी बन गई है आम बात
  • मुकदमे को अल्पीकरण करने में माहिर है बड़हरिया पुलिस
  • पुलिस के प्रति बड़े पैमाने पर आक्रोश

परवेज अख्तर/सिवान: इन दिनों बड़हरिया थाना पुलिस की निष्क्रियता से मोटरसाइकिल चोरों की चांदी कट रही है तो दूसरी तरफ थाना क्षेत्र के कई जगहों पर पुलिस निष्क्रियता के कारण अपराधिक घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि हो रही है।आए दिन दुकान तथा मकानों में सक्रिय चोर खूब मजे से अपराधिक घटना को अंजाम दे रहे हैं।इसके बावजूद भी बड़हरिया पुलिस सक्रिय चोरों के गिरेबान तक नहीं पहुंच पा रही है।जिससे आम जनमानस में सक्रिय चोरों के प्रति भय व्याप्त है तो दूसरी तरफ बड़हरिया पुलिस के प्रति लोगों में आक्रोश देखा जा रहा है।बड़हरिया थाना पुलिस का इन दिनों आलम यह है कि अगर कोई भी अपराधिक घटना घटित हो जाती है तो प्राथमिकी के लिए गए पीड़ितों को थाना परिसर से डांट फटकार कर भगाया जा रहा है।मोटरसाइकिल चोरों की सक्रियता का आलम यह है कि आए दिन थाना क्षेत्र के कई हिस्सों में सक्रिय चोरों द्वारा पल भर में लोगों की मोटरसाइकिलें गायब कर दे रहे हैं।और पीड़ित जब इसकी शिकायत लेकर स्थानीय थाना पहुंचती है तो पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज करने में भी आना कानी कर रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

जिसको लेकर पुलिस के प्रति पूर्व से ही सक्रिय चोरों के आतंक को लेकर आक्रोश तो था लेकिन जब घटना घटित होने पर पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज नहीं करने पर दोगुना आक्रोश देखा जा रहा है।इसी कड़ी में थाना क्षेत्र के तरवारा रोड के परमामोड़ स्थित एक मकान के सामने खड़ी अपाची मोटरसाइकिल को सक्रिय चोरों ने हैंडल का लॉक तोड़कर चोरी कर ली।घटना उस समय घटी की बड़हरिया गांव निवासी स्वर्गीय चंद्रिका साह के पुत्र अनमोल साह अपनी आपाची मोटरसाइकिल से परमा मोड स्थित अपने मित्र अंकित शर्मा से मिलने के लिए आया हुआ था। दूसरी बाइक चोरी की घटना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बड़हरिया की बतायी जाती है।ऐसे तो आपराधिक घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि हुई हुई। 19 अप्रैल की रात में थाना क्षेत्र के बड़हरिया -मीरगंज मेन रोड स्थित गौसीहाता पुल के समीप निर्माणाधीन मकान में हुई राजधारी साह की हत्या की गुत्थी अभी सुलझी भी नहीं है कि गुरुवार को बड़हरिया सेंट्रल बैंक से पैसे निकालकर जा रही महिला से बाइक सवार अपराधियों ने एक लाख रुपये सरेआम लूट ली।

बड़हरिया-जामो मेन रोड में लूट की यह तीसरी घटना है।बताया जाता है कि बड़हरिया थाना क्षेत्र के पुरैना निवासी राधेश्याम तिवारी की पत्नी गायत्री देवी अपने बैग में एक लाख रुपये लेकर टेम्पो पकड़ने जा रही थी कि बाइक सवार अपराधियों ने उनसे सरेआम रुपयों से भरा बैग लूट लिया।बाजारवासियों का कहना है कि जामो रोड में लूट की तीन घटनाओं के बावजूद पुलिस प्रशासन द्वारा इस रोड में गश्ती नहीं की जा रही है।थाना क्षेत्र के लोगों का सीधे तौर पर कहना है कि रात्रि गश्ती के नाम पर पुलिस सिर्फ खानापूर्ति करती है।लोगों का कहना है कि अगर पुलिस रात्रि गस्ती पूरी इमानदारी पूर्वक करती तो इन दिनों क्षेत्रों में जो चोरी की घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि हुई है उस पर जरूर अंकुश लगता।

बड़हरिया वासियों का सीधे तौर पर कहना हैै कि पूर्व के थानाध्यक्ष मनोज कुमार के कार्यकाल में इतनी अपराधिक घटनाएं नहीं घटित होती थी और थाने में फरियादियों की सुनी जाती थी लेकिन वर्तमान थानाध्यक्ष के कार्यकाल में अपराधियों के फन इलाके में दिन पर दिन उठते जा रहे हैं और इनके कार्यकाल में ही थाना परिसर से फरियादियों को डांट फटकार कर भगाया जा रहा है।इनके कार्यकाल में अगर कोई पीड़ित लिखित आवेदन थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए ले जाता है तो उस आवेदन को बदलकर सिर्फ मुकदमे का अल्पीकरण किया जाता है।इनके कार्यकाल में चोरी की घटना की प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए एक सप्ताह दौड़ना पड़ता है।बहरहाल चाहे जो हो बड़हरिया में इन दिनों अपराधिक घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि हुई है। जिसको लेकर आम जनमानस में पुलिस के प्रति बड़े पैमाने पर आक्रोश देखा जा रहा है।