गुठनी में छेड़खानी को लेकर दो गुटों में हिंसक झड़प

0
  • मारपीट के दौरान दो युवकों को लगी गंभीर चोट
  • प्रशासन व प्रतिनिधियों ने कराया मामला शांत

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के गुठनी थाना क्षेत्र के पड़री गांव में शौच करने गई महिलाओं से छेड़खानी को लेकर दो गुटों में हिंसक झड़प हो गई। इस घटना के बाद पूरे गांव में तनाव का माहौल है। वहीं सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। जबकि तनाव को देखते हुए जनप्रतिनिधियों व सामाजिक कार्यकर्ताओं ने गांव में पहुंच कर लोगों को समझाने का प्रयास किया। ग्रामीणों ने बताया कि शनिवार की शाम गांव के एक गुट की महिलाएं शौच करने गई थी। इस दौरान दूसरे गुट के युवकों ने उनसे दुर्व्यवहार व अश्लील शब्द का प्रयोग किया। जिसकी सूचना मिलने के बाद आरोपितों से पूछताछ करने गए दूसरे पक्ष के लोगों से मारपीट की गयी। उनका आरोप था इस मारपीट में गांव के दो युवक शिवम कुमार राम (18 वर्ष) व गुलशन कुमार राम (21 वर्ष) की जमकर पिटाई कर दी गई। जिससे दोनों की हालत गंभीर हो गई। रविवार की सुबह ग्रामीण उग्र होकर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे सीओ शम्भूनाथ राम, प्रभारी थानाध्यक्ष दशरथ सिंह, सीआई कृष्णा कुमार गुप्ता, मुखिया मुरारी लाल श्रीवास्तव ने समझाकर मामले को शांत कराया। पुलिस का कहना है कि इस संबंध में दोनों पक्षों को समझा कर मामला शांत कराया गया है। इस मामले में आरोपितों को बख्शा नहीं जाएगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

चौकीदार के परिजनों पर लगाया आरोप

पड़री में हुए दो गुटों के बीच हिंसक झड़प के बाद गांव में तनाव व्याप्त है। पीड़ित परिवार का आरोप है कि थाने में तैनात चौकीदार वकील अंसारी और उनके परिवार के लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया। वहीं दवा के लिए गए दोनों युवकों को चौकीदार के समक्ष जमकर पिटाई की गई। जिसमें दोनों की हालत गंभीर हो गई। इस संबंध में दोनों घायलों ने मेराज अंसारी, सेराज अंसारी, वकील अंसारी व भोला अंसारी को आरोपित किया है। वहीं मौके पर पहुंचे पूर्व मुखिया मुरारी लाल श्रीवास्तव, श्रीराम यादव, अशोक दुबे, प्रभुनाथ भगत सहित कई लोगों ने दोनों पक्षों से सुलह समझौता करने का अनुरोध किया। संवाद प्रेषण तक मामला दर्ज नहीं किया गया था।

क्या कहते हैं एसपी

एसपी अभिनव कुमार का कहना है कि इस तरह की घटना के दोषियों के विरुद्ध मामला दर्ज किया जाएगा। इस तरह की घटना में शामिल आरोपितों को बख्शा नहीं जाएगा।