सारण की महिलाओं ने यूपी में घुसकर शराब कारोबारियों के खिलाफ छेड़ा जंग, दुकान में तोड़फोड़

0

छपरा: सीमावर्ती यूपी के मांझी घाट स्थित शराब दुकान के सामने नशे में धुत शराबियों द्वारा रविवार की देर शाम एक राहगीर को चाकू घोंप कर घायल कर देने के मामले में सोमवार को चांददियर की सैकड़ों महिलाओं व बच्चों ने लाठी-डंडे से लैस होकर लाइसेंसी शराब की दुकान में तोड़फोड़ की। फिर एनएच 31 को चांद दियर के पास जाम कर आवागमन ठप कर दिया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
metra hospital

सूचना पाकर चांददियर पुलिस चौकी पर तैनात दो सिपाही मौके पर पहुंचे जिनके साथ भी महिलाओं ने धक्का-मुक्की की। लगभग तीन घंटे तक जाम के बाद मौके पर पहुंचे बैरिया के एसडीएम अभय कुमार सिंह तथा बांसड़ीह की सीओ प्रीति त्रिपाठी के आश्वासन पर महिलाओं ने सड़क जाम समाप्त कर दिया। इस दौरान सुबह नौ बजे से 12 बजे तक रोड पर आवागमन बाधित रहा।

पुलिस पर शराबियों को छोड़ने का आरोप

ग्रामीणों का आरोप था कि पकड़े गए लोगों में से तीन शराबियों को पुलिस वालों ने छोड़ दिया। जबकि छपरा शहर के कटरा निवासी शराबी महेश कुमार को पुलिस ने हिरासत में ले रखा है। सुबह जब महिलाओं को जानकारी हुई कि पकड़े गए लोगों में से तीन को पुलिस वालों ने छोड़ दिया तो महिलाएं उग्र हो गई। और पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगीं।

पुलिस के साथ हाथापाई भी की। शराब की दुकान में तोड़फोड़ भी किया। इस बीच किसी ने शराब की दुकान में आग लगाने का असफल प्रयास भी किया। बाद में घटना की सूचना पर बैरिया के एसडीएम अभय कुमार सिंह बांसडीह की सीओ प्रीति त्रिपाठी बैरिया व दोकटी तथा रेवती थानाध्यक्ष बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। वहीं फायर ब्रिगेड की गाड़ी भी मौके पर पहुंची।