बिहार में 22 ट्रेनें रद्द, 5 के बदले रूट, कई स्‍टेशन्‍स पर आगजनी और तोड़फोड़

0

पटना: केंद्र सरकार की ‘अग्निपथ योजना’ को लेकर विरोध प्रदर्शन अभी भी जारी है. बिहार के कई जिले में लोग सड़कों पर उतर चुके हैं. आगजनी और पत्थरबाजी की घटनाएं भी सामने आ रही हैं. गंभीर होती स्थिति को देखते हुए पूर्व मध्य रेल की 22 ट्रेनें रद्द कर दी गयी है तो 29 ट्रेनें प्रभावित हुई है. 5 ट्रेनों को रीशेड्यूल भी किया गया है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

आंदोलन कर रहे अभ्यर्थियों ने बिहार में कई ट्रेनों में तोड़फोड़ की घटनाओं को अंजाम दिया गया है. समस्तीपुर रेलमंडल ने 6 पैसेंजर और एक एक्सप्रेस ट्रेन को रद्द कर दिया है. सहरसा से नई दिल्ली को जाने वाली वैशाली एक्सप्रेस को 7 घंटे से अधिक समय के लिए रीशेड्यूल किया गया. इसके अलावे कई ट्रेनें मंडल के अलग अलग स्टेशनों पर रुकी हुई हैं.

कई ट्रेनों में तोड़फोड़ की घटनाएं

अग्निपथ बहाली योजना का विरोध कर रहे अभ्यर्थियों ने समस्तीपुर के दलसिंहसराय में अवध एक्सप्रेस के पैंट्री कार में तोड़फोड़ कर सामानों को लूट लिया. इसी तरह समस्तीपुर मंडल के मोतिहारी में 19038 बरौनी बांद्रा अवध एक्सप्रेस में भी पत्थराव किया गया है. समस्तीपुर रेलमंडल के डीआरएम आलोक अग्रवाल ने बताया कि मंडल के सहरसा, बापूधाम मोतिहारी और मधुबनी के स्टेशनों पर आंदोलन हो रहे हैं. इसपे रेलवे की टीम नजरें बना रखी है .जैसे ही आंदोलन खत्म होगा ट्रेनों का परिचालन सामान्य हो जाएगा.

सहरसा से चलने वाली पांच पैसेंजर ट्रेन एक एक्सप्रेस ट्रेन राज्यरानी को रद्द किया गया : डीआरएम

ezgif.com gif maker 21

समस्तीपुर रेलमंडल के डीआरएम आलोक अग्रवाल ने बताया कि बिहार में कई जगहों पर और देश मे कई जगहों पर कुछ कारणों से आंदोलन हो रहा है. हमारे डिवीजन में तीन जगह सहरसा, मधुबनी और बापूधाम मोतिहारी में आंदोलन हो रहा है. हम लोग स्थानीय प्रशासन से संपर्क बनाए हुए हैं. वे हमें सहयोग भी कर रहे हैं. हम उम्मीद करते है कि किसी तरह का तोड़फोड़ न हो और सभी यात्री सुरक्षित रहे. यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए सहरसा से चलने वाली पांच पैसेंजर ट्रेन एक एक्सप्रेस ट्रेन राज्यरानी को रद्द कर दिया है.

आंदोलन खत्म होने पर शुरू किया जाएगा परिचालन

डीआरएम आलोक अग्रवाल आगे कहते हैं कि अगर आंदोलन खत्म हो जाता है तो ट्रेनों का परिचालन सुचारू रूप से शुरू कर देंगे. मोतिहारी के पास एक एसी बोगी और लोको पायलट पर पत्थर फेंका है ये काफी दुर्भाग्यपूर्ण है. वैशाली एक्सप्रेस ट्रेन को रेगुलेट सहरसा में किया गया है, क्योंकि उसके चलने से पहले ही आंदोलन शुरू हो गया था. कुछ यात्री टिकट को रद्द भी किया गया है.अगर चलाना संभव नही हुआ तो हम वैशाली एक्सप्रेस को रद्द भी कर सकते है. इस दौरान उन्होंने लोगों से यात्रियों का ख्याल रखते हुए आंदोलन खत्म करने की अपील की है.