कोरोना काल के बाद लगा सीओ का जनता दरबार, चार फरियादी पहुंचे, जमीनी विवाद में फरियाद की जगी आस

0

छपरा: जिले के मशरख थाना परिसर में कोरोना काल के बाद जिलाधिकारी सारण सुब्रत कुमार सेन के आदेशानुसार पहली बार शनिवार को जनता दरबार का आयोजन किया गया।थाना परिसर में अंचलाधिकारी ललित कुमार सिंह के नेतृत्व में जनता दरबार लगाया गया। इस मौके पर थानाध्यक्ष रत्नेश कुमार वर्मा भी उपस्थित रहे। जमीन से संबंधित शिकायत को लेकर कई लोगों ने अंचलाधिकारी से मिलते हुए जमीन पर हो रहे समस्याओ के बारे में आवेदन दिया। कोरोना काल के बाद पहली बार भूमी संबधी विवाद के निपटारे के लिए लगें जनता दरबार से ग्रामीण इलाकों में जमीनी विवाद के निपटारे की आस जगी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ad-mukhiya
muskan buty

आपकों बता दें कि कोरोना काल में थाना क्षेत्र में जमीनी विवाद को लेकर मारपीट के मामले में जबरदस्त बढोतरी दर्ज की गई थी वही कोरोना वायरस संक्रमण के चलते जनता दरबार पर रोक लगा दी गई थी। शनिवार की जनता दरबार में चार मामले जमीनी विवाद के आए। जिसमें ब्रराहिपुर गांव के रामबदन सिंह ने संध्या देवी पर जबरन कब्जा,मशरक के टुनटुन प्रसाद बनाम अभय कुमार दीक्षित ने जमीन पर जबरन मकान बनाने,पचखंडा गांव के हंसाफीर के गोवर्धन महतो बनाम सम्पत महतो के बीच जबरन हिस्से की जमीन बिक्री, लक्ष्मण राय बनाम सिपाही राय के बीच जबरन जमीन कब्जाने का मामला दर्ज कराया गया। मामले में सीओ ललित कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना काल से पहले 6 आवेदन लम्बित थें और 4 आवेदन नये आए। जिसमें सुनवाई के बाद 2 आवेदन का निष्पादन कर दिया गया।