आयुष्मान योजना के तहत ई-गोल्डन कार्ड बनाने के लिए जिले में चलेगा आयुष्मान पखवाड़ा

0
  • आयुष्मान योजना के तहत लाभार्थियों को 5 लाख तक का नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा
  • 17 फरवरी से 3 मार्च तक होगा पखवाड़ा का आयोजन
  • सभी पंचायतों में कैंप लगाकर बनाया जाएगा गोल्डन कार्ड
  • बिहार सरकार के मुख्य सचिव ने पत्र जारी कर दिया निर्देश

छपरा: आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का क्रियान्वयन पात्र लाभार्थियों को वर्ष में 5 लाख रूपये तक के नि:शुल्क चिकित्सा प्रदान करने के लिए किया जा रहा है। योजना के संपूर्ण क्रियान्वयन के लिए लाभार्थियों को योजना से संबंधित गोल्डन कार्ड उपलब्ध कराई जा रही है। पात्र लाभार्थी परिवारों को निर्गत गोल्डन कार्ड का वर्तमान प्रतिशत राज्य में 23.6 है। गोल्डन कार्ड बनाने में शत-प्रतिशत उपलब्धि के लिए 17 फरवरी से 3 मार्च तक आयुष्मान पखवाड़ा आयोजित किए जाने का निर्णय लिया गया है। इसमें सभी पंचायतों के आरटीपीएस पटल पर 15 दिनों तक ई-गोल्डन कार्ड निर्माण का विशेष अभियान चलाया जाएगा। इस पखवाड़े के दौरान विभिन्न गतिविधियों का आयोजन होगा इसको लेकर बिहार सरकार के मुख्य सचिव दीपक कुमार ने पत्र जारी कर जिलाधिकारी को निर्देश दिया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

जनप्रतिनिधियों का लिया जाएगा सहयोग

शिविर के आयोजन को लेकर प्रचार- प्रसार किया जाएगा। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के संबंध में आम जनों को जानकारी देने के लिए सभी स्तर के जनप्रतिनिधियों, विशेषकर पंचायती राज निकायों के साथ वार्ता और शिविर के सफल संचालन में सहयोग के लिए अपील की जाएगी । सभी ग्राम पंचायतों में शिविर का आयोजन एवं योजना के लाभ के लिए विषय में माइकिंग के द्वारा प्रचार- प्रसार किया जाएगा। प्रत्येक आरटीपीएस पटल, ग्राम पंचायत, प्रखंड पर होर्डिंग- बैनर भी लगाया जाएगा।

कार्यपालक सहायक बनाएंगे गोल्डन कार्ड

जारी पत्र के माध्यम से निर्देश दिया गया है कि पंचायती राज विभाग अंतर्गत पंचायत स्तर पर पंचायती राज कार्यपालक सहायक की सेवा उपलब्ध है। जिनकी सेवा पूर्व के विषय विशेष अभियान में सफलतापूर्वक ली गई है। इस अभियान में भी ली जाएगी। जिन ग्राम पंचायतों में पंचायती राज कार्यपालक सहायक उपलब्ध नहीं हैं , वहां आयुष्मान पखवाड़े तक के लिए जिला पदाधिकारी के द्वारा अन्य विभागों यथा स्वास्थ्य विभाग, ग्रामीण विकास विभाग आदि के कार्यपालक सहायक की सेवा उपलब्ध कराई जाएगी।

शिविर को लेकर बनाया जाएगा माइक्रोप्लान

आयुष्मान पखवारा शुरू किए जाने से पहले जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में इस पखवाड़े से संबंध में सभी विभागीय यथा- जीविका, पंचायती राज के प्रतिनिधि एवं स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों के साथ माइक्रो प्लान तैयार किए जाने के लिए एक बैठक आयोजित की जाएगी। आयुष्मान पखवारा आयोजित किए जाने के लिए ई-कार्ड निर्गत किए जाने से संबंधित गतिविधि में किसी प्रकार की कठिनाई नहीं हो, इसके लिए निर्वाचन कार्य की भांति ग्राम पंचायतवार, वार्डवार माइक्रोप्लान संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा तैयार किया जाएगा।

बायोमेट्रिक डिवाइस की उपलब्धता

पूर्व में पंचायत स्तरीय शिविर के आयोजन के क्रम में बायोमेट्रिक डिवाइस उपलब्ध कराई गयी है। वैसे ग्राम पंचायत जिनके लिए बायोमेट्रिक डिवाइस क्रय नहीं हो पाया था, उन पंचायतों में सिविल सर्जन बायोमेट्रिक डिवाइस उपलब्ध कराएंगे ।

वार्ड सदस्य के सहयोग से समुदाय को किया जाएगा जागरूक

इस आयुष्मान पखवाड़े के दौरान आयोजित शिविरों में पात्र लाभार्थी परिवार के सदस्यों को वार्ड सदस्य के सहयोग से मोब्लाइज किया जाएगा। व्यक्तिगत पहचान हेतु आधार कार्ड, आधार नंबर तथा परिवारिक सदस्यता सत्यापन के लिए राशन कार्ड अथवा प्रधानमंत्री द्वारा प्रेषित पत्र साथ शिविर में आने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इस कार्य में जीविका, आशा, एएनएम के साथ-साथ एमओआईईसी और बीसीएम की सहायता ली जाएगी। शिविर के दौरान निर्गत ई-कार्ड का वितरण विशेष अभियान के 15वें दिन एक साथ आरटीपीएस पटल अथवा पंचायत भवन पर संबंधित ग्राम पंचायत के प्रतिनिधियों एवं आशा, एएनएम के सहयोग से किया जाएगा।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दिया जाएगा प्रशिक्षण

आयुष्मान पखवाड़ा के सफल क्रियान्वयन को लेकर कर्मियों को प्रशिक्षित किया जाएगा। जिला स्तर पर बिहार स्वास्थ्य सुरक्षा समिति में कार्यरत जिला कार्यक्रम समन्वयक एवं जिला आईटी प्रबंधक जिला स्तर पर चिह्नित मास्टर ट्रेनर प्रशिक्षण देंगे। वे इस कार्य के लिए चिह्नित कर्मियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रशिक्षण देना सुनिश्चित करेंगे। आवश्यकता पड़ने पर इनके द्वारा मुख्यालय स्तर पर जाकर चिह्नित कर्मियों का प्रशिक्षण देना सुनिश्चित करेंगे।

जिला स्तर पर डीएम करेंगे अभियान का अनुश्रवण

इस पूरे अभियान का अनुश्रवण जिला अधिकारी स्वयं करेंगे एवं इस कार्य में सिविल सर्जन एवं उनके अधीन कार्यरत स्वास्थ्य विभाग के सभी कर्मी सहयोग करेंगे। जिला पदाधिकारी द्वारा प्रत्येक दो अथवा तीन प्रखंडों के लिए एक पर्यवेक्षीय पदाधिकारी प्रतिनियुक्त किया जाएगा। प्रखंड स्तर पर इस आयोजन का अनुश्रवण प्रखंड विकास पदाधिकारी करेंगे। जिसमें उनका सहयोग प्रखंड स्तर पर कार्यरत स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों के द्वारा किया जाएगा।

उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले जिला पदाधिकारी एवं बीडीओ होंगे सम्मानित

आयुष्मान पखवाड़े के सफल संचालन में सर्वोत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले जिला के जिला पदाधिकारी एवं जिले के प्रथम तीन प्रखंड विकास पदाधिकारी को पारितोषिक व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा।

शिविर में इन बातों का रखना होगा ध्यान

  • कोविड-19 को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग सहित कोविड-19 के संबंध में सरकार द्वारा निर्गत दिशा निर्देशों का अनुपालन करना अनिवार्य होगा
  • आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं इसकी विशेषताओं से संबंधित बैनर एवं पोस्टर लगाया जाएगा
  • सभी पात्र लाभुकों को इस योजना के संबंध में तैयार किए गए पंपलेट एवं सूचीबद्ध अस्पतालों की सूची उपलब्ध कराई जाएगी