छपरा: ट्रेन से आने वाले प्रत्येक यात्रियों का छपरा जंक्शन पर हो रहा कोविड-19 की जांच

0
  • सिविल सर्जन व डीपीएम ने किया निरीक्षण
  • कर्मियों को दिये आवश्यक दिशा निर्देश
  • स्वंय व परिवार की सुरक्षा के लिए,जांच कराने के लिए आगे आयें यात्री: सिविल सर्जन

छपरा: महाराष्ट्र, पंजाब व केरल समेत अन्य राज्यों से आने वाले प्रत्येक व्यक्तियों की कोविड-19 की जांच की जा रही है। छपरा जंक्शन पर ट्रेन से आने वाले सभी यात्रियों की जांच रैपिड एंटीजन किट के माध्यम से की जा रही है। शुक्रवार को सिविल सर्जन डॉ. जर्नादन प्रसाद सुकुमार एवं डीपीएम अरविन्द कुमार ने छपरा जंक्शन कोविड-19 जांच कार्य का निरीक्षण किया तथा कर्मियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। इस मौके पर सिविल सर्जन डॉ. जर्नादन प्रसाद सुकुमार ने कहा कि खुद एवं परिवार व समाज की सुरक्षा के लिए सभी यात्रियों को कोरोना का जांच करा लें। इससे संक्रमण फैलने की खतरा कम हो सकेगा। उन्होंने सोशल डिस्टेंन्स व मास्क लगाने का निर्देश का पालन कराने का सख्त निर्देश दिया। साथ ही कहा कि जंक्शन पर उतरने वाले हर एक ट्रेनों के हर एक यात्रियों की कोरोना जांच किया जाना सुनिश्चित किया जाए। एक भी यात्री बिना जांच किए स्टेशन से बाहर नहीं आ पाए। उन्होंने कहा कि जांच में लगे लोग इमानदारी के साथ कार्य का निष्पादन करने में पूरा सहयोग प्रदान करें।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

कोरोना को हराना है तो, अपना जांच जरूर कराएं

सिविल सर्जन ने कहा कि कोरोना के संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए जांच में तेजी लायी गयी है। पंचायत स्तर पर कैंप लगाकर कोरोना का जांच की जा रही है। अगर कोरोना को हराना है तो सभी लोग अपना जांच जरूर कराएं। ताकि संक्रमण के प्रसार को रोका जा सके। सीनियर सिटीजन भी अपना कोरोना का टेस्ट जरूर करवाएं। इससे सही रिपोर्ट सामने आएगी और समय रहते देखभाल संभव हो सकेगी और दूसरे लोगों को भी संक्रमण से बचाया जा सकेगा। कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए सभी को आगे आना होगा। किसी भी व्यक्ति को टेस्ट करवाने के लिए घबराने की जरुरत नहीं है।

इन बातों का रखें विशेष ख्याल

  • व्यक्तिगत स्वच्छता और शारीरिक दूरी बनाए रखें.
  • बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
  • साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड रब का इस्तेमाल करें.
  • साफ दिखनेवाले हाथों की भी अंतराल पर सफाई करें.
  • छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढंके.
  • उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
  • घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
  • बार-बार मास्क को ऊपर नीचे करने से बचें.
  • बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से एक सुरक्षित दूरी बनाए रखें.
  • अपनी कोहनी के अंदरूनी हिस्से में छींके, अपने हाथों की हथेलियों में न खासें.
  • आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.