छपरा: कोविड टीकाकरण के सेकेंड डोज से वंचित फ्रंटलाइन वर्कर व हेल्थ केयर वर्कर्स का किया जायेगा टीकाकरण

0
  • एक सप्ताह के अंदर वैक्सीनेट करने का निर्देश
  • जिले में काफी संख्या में फ्रंटलाइन वर्कर व हेल्थ केयर वर्कर्स सेकेंड डोज से
    है वंचित

छपरा: जिले में कोरोना संक्रमण से सुरक्षा के लिए टीकाकरण अभियान को जोर-शोर से चलाया जा रहा है। टीकाकरण के लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने के लिए विभाग प्रतिबद्ध है। इसको लेकर तमाम प्रयास किये जा रहें है। जिले में अभी भी कुछ ऐसे फ्रंटलाइन वर्कर या हेल्थ केयर वर्कर है जो कोविड टीकाकरण का दूसरा डोज नहीं लिये है। इसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक ने पत्र जारी कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिया है। जारी पत्र में कहा गया है कि निर्धारित समय सीमा पार करने के बावजूद भी फ्रंटलाइन वर्कर व हेल्थ केयर वर्कर ने सेकेंड डोज नहीं लिये है। वैक्सीन का दोनों डोज लेना अनिवार्य है। दूसरे डोज से वंचित लाभार्थियों को एक सप्ताह के अंदर टीकाकृत करने का निर्देश दिया गया है। जिले में 7596 फ्रंटलाइन वर्करों ने कोविशिल्ड का दोनों डोज ले लिया है। लेकिन अभी भी 2246 फ्रंटलाइन वर्कर ऐसे है जो दूसरे डोज से वंचित है। जिले में 17204 हेल्थ केयर वर्करों ने कोविशिल्ड का दोनों डोज लिया है, जबकि 4764 ऐसे हेल्थ केयर वर्कर जो सेकेंड डोज नहीं लिये हैं। एक सप्ताह के अंदर सभी को वैक्सीनेट करने का निर्देश दिया गया है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

सुरक्षा के लिए दोनों खुराक हैं जरूरी

जिले में कोरोना संक्रमण की दूसरी रफ्तार थमी जरूर है, लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। तीसरी लहर की आशंका बना हुई है। ऐसे में लोगों को सुरक्षित रहने के लिए कोरोना बचाव के दोनों टीके लगवाने जरूरी है। यूं तो शहर से लेकर ग्रामीणों में टीकाकरण को लेकर जागरूकता बढ़ी है। यही वजह है कि स्वास्थ्य विभागद्वारा दिए जा रहे लक्ष्य से अधिक लोग टीका लगवा रहे हैं।

दोनों डोज लगने के बाद हीं हो पायेंगे सुरक्षित

सिविल सर्जन डॉ. जेपी सुकुमार ने कहा कि विभाग की प्राथमिक लोगों को दूसरी
डोज देकर महामारी से सुरक्षित करना है। लोग दूसरी डोज जरूर लगवाएं, दोनों
डोज लगने के बाद ही कोरोना वायरस से लड़ने की क्षमता मिलेगी।दोनों डोज
लगने के बाद ही आप पूर्ण तरह सुरक्षित रह पाएंगे।

ऐसे रोकें संक्रमण का प्रसार

  • एक साथ 2 मास्क का प्रयोग करें
  • आंतरिक स्थानों पर वायु संचार सुनिश्चित करें
  • दूरी बनायें रखने का हरसंभव प्रयास करें
  • साबुन से नियमित हाथ साफ़ करते रहें
  • कोविड मरीजों को अलग कमरे में रखें
  • सतहों को नियमित रूप से कीटाणुनाशकों से नियमित रूप से साफ़ करें