छपरा: विधायक ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का किया औचक निरीक्षण

0

छपरा: मांझी के विधायक डॉ सतेन्द्र यादव ने सोमवार को स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में अस्पताल की व्यवस्था से रूबरू हुए. निरीक्षण के दौरान चिकित्सा पदाधिकारी, स्वास्थ प्रबंधन, और कई चिकित्सक,फार्मासिस्ट सहित कर्मचारी गायब मिले। अस्पताल परिसर लोगों ने अपने विधायक को यहां की समस्याओं से अवगत कराते हुए जनहित में कई मांगे रखी.विधायक ने अस्पताल के गंदगी चादर देख भड़क उठे. अस्पताल में भर्ती मरीजो से विधायक ने पूछताछ की। पूछताछ के दौरान मरीजों ने विधायक से अस्पताल की कई खामियां बता दी। खामिया सुन उन्होंने कड़ी फटकार भी लगाई।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2023-10-11 at 9.50.09 PM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.50 AM
WhatsApp Image 2023-10-30 at 10.35.51 AM
ahmadali
WhatsApp Image 2023-11-01 at 2.54.48 PM

अस्पताल परिसर में पैथोलॉजी चालू नही रहने, डेंटल चेयर फेंके जाने एक्सरे चालू नहीं रहने पर बिफर पड़े। चिकित्सकों के नियमित नहीं रहने, प्रसव के लिए उचित उपस्कर, दवा व महिला चिकित्सकों का अभाव सहित अन्य चीजों की कमी को गंभीरता से लिया. साथ ही इस ओर उचित कदम उठाने की बात भी कही। विधायक ने कहा कि अस्पताल में कुव्यवस्था है। इसमें सुधार और नियमित तौर पर चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है. स्वास्थ मंत्री मंगल पाण्डेय से मिलकर अस्पताल की कुव्यवस्था को रखा जाएगा। साथ ही इसमें सुधार के लिए आग्रह भी करेंगे। मौके पर उप प्रमुख राकेश राउ, सन्नी यादव, नसीम अहमद, विनय यादव, लाल बाबू, सत्यनारायण यादव, रमेश यादव सहित काफी संख्या में लोग मौजूद रहे.

विधायक की मांझी पहुचने पर फरियादी उमड़े

मांझी अस्पताल पहुचने को खबर सुनकर दर्जनों लोग अपनी अपनी समस्या लेकर विधायक से मिलने पहुंचे. ग्रामीणों ने माझी पूर्वी पंचायत में जल निकासी के लिए गुहार लगाई. जिस पर विधायक में सीओ दिलीप कुमार कार्यक्रम अधिकारी के बात कर आगामी 20 फरवरी को मुख्यालय के सभागार में बैठक कर पइन को अतिक्रमण मुक्त कर उसकी सफाई करा कर जल निकासी की स्थाई समाधान करने की बात कही.कई लोगों के द्वारा जन वितरण के दुकानदारों द्वारा लाभुकों को मात्रा सही नही देने की शिकायत की.जिस पर एमओ को अपने निगरानी में अनाज वितरण कराने का निर्देश दिया.समय पर सही मात्रा लाभुकों को नही मिलने पर पदाधिकारियों तथा दुकानदारों के विरुद्ध कार्यवाई करने चेतावनी भी दे डाली.