त्यौहारों में घर आने वाले परदेसियों को यूपी-बिहार की सीमा पर लगाया जा रहा कोविड का टीका

0
  • केयर इंडिया के सहयोग से बलथरी चेक पोस्ट पर बनाया गया विशेष टीकाकरण केंद्र
  • एक-एक वाहनों को रोककर लाभार्थियों को दी जा रही वैक्सीन
  • टीका लेने के बाद स्वास्थ्यकर्मियों को थैँक्यू बोल रहे लोग

गोपालगंज: त्यौहारों को लेकर दूसरे राज्यों में रहने वाले परदेसियों का घर लौटने का सिलिसला जारी है। त्यौहारों का रंग फीका नहीं पड़े इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग प्रतिबद्ध है। ऐसे में निजी और पब्लिक ट्रांसपोर्ट से दूसरे राज्यों से आने वाले परदेसियों के टीकाकरण के लिए विशेष व्यवस्था की गयी है। केयर इंडिया के सहयोग से जिले के कुचायकोट प्रखंड के यूपी के बॉर्डर बलथरी चेक पोस्ट पर विशेष टीकाकरण केंद्र बनाया गया है। जहां पर परदेसियों का टीकाकरण किया जा रहा है। केयर इंडिया के परिवार नियोजन समन्वयक अमित कुमार की देखरेख में यह टीकाकरण केंद्र संचालित है। सुबह 6 से रात 9 बजे तक इस केंद्र पर टीकाकरकण किया जा रहा है। बाहर से आने वाले प्रत्येक व्यक्तियों से इस बात की जानकारी ली जा रही है कि उन्होंने टीका लिया है या नहीं। जो लोग टीका नहीं लिये हैं या दूसरा डोज का समय हो चुका है, उनका टीकाकरण किया जा रहा है। एक -एक वाहनों को रोक कर स्वास्थ्यकर्मियों के द्वारा टीका दिया जा रहा है। अमित कुमार ने बताया कि इस केंद्र पर प्रतिदिन 400 से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। सबसे ज्यादा पहली खुराक की डोज दी जा रही है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

डोर-टू-डोर टीकाकरण अभियान की शुरुआत

जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम धीरज कुमार ने बताया कि कोविड टीकाकरण के लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने के लिए जिले में विभाग ने एक अच्छी पहल की शुरुआत की है। शनिवार से डोर-टू-डोर टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गयी। जिसके तहत स्वास्थ्यकर्मियों ने हर घर दस्तक देकर लाभार्थियों को सुरक्षा कवच यानि कोविड का टीका प्रदान किया। 30 और 31 अक्टूबर को डोर-टू-डोर टीकाकरण अभियान चलेगा। टीकाकरण के लिए पंचायत स्तर पर टीम का गठन किया गया है। जिसमें एक एएनएम, दो वैरिफायर तथा उस क्षेत्र की आशा को शामिल किया गया है। घर-घर जाकर टीका के पहले तथा दूसरे खुराक से वंचित लाभार्थियों का टीकाकरण किया जा रहा है।

जिले में 71 प्रतिशत आबादी को लगा पहला डोज

सिविल सर्जन डॉ. योगेंद्र महतो ने बताया कि जिले में अब तक 71 प्रतिशत आबादी को पहली डोज दी जा चुकी है। लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने के लिए विभाग प्रयासरत है। माइक्रो प्लान के अनुसार डोर-टू-डोर टीकाकरण अभियान की शुरुआत की गयी है। इसकी मॉनिटरिंग के लिए जिलास्तर के पदाधिकारियों को जिम्मेदारी दी गयी है। जिले में 17,40,980 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। 12,75,225 लोगों को प्रथम तथा 4,65,755 लाभार्थियों को दूसरी खुराक का टीका दिया गया है।