कोविड-19 टीका के रख-रखाव के लिए छपरा में बन रहा क्षेत्रीय वैक्सीन स्टोरेज रूम

0
  • सिवान व गोपालगंज के लिए सारण से होगा वैक्सीन का सप्लाई
  • जिला प्रतिरक्षण कार्यालय में बनकर तैयार स्टोरेज रूम
  • 9000 लीटर क्षमता वाला वाल्क-इन-कूलर होगा स्थापित
  • लॉजिस्टिक के रख-रखाव के लिए ड्राइ स्टोरेज बनकर तैयार

छपरा: वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण कार्य किया जाना है। इसको लेकर जिलास्तर पर विभाग द्वारा तैयारी जोर-शोर से की जा रही है। प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया जायेगा। इसके लिए लाभार्थियों की सूची तैयार की जा रही है। कोविड टीका के रख-रखाव को लेकर जिला प्रतिरक्षण कार्यालय में क्षेत्रीय टीका स्टोर रूम का निर्माण जा रहा है। निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। रूम में प्लेटफार्म का निर्माण किया जा चुका है। वैक्सीन स्टोरेज रूम में थ्री फेज का इलेक्ट्रिक वायरिंग कराया जा रहा है। जिला प्रतिरक्षण कार्यालय के कोल्ड चेन टेक्निशियन शक्ति कुमार ने बताया कि कोविड-19 वैक्सीन के रखरखाव को लेकर जारी निर्देश के अनुसार कार्य किया जा रहा है। यहां पर क्षेत्रीय वैक्सीन स्टोरेज रूम का निर्माण हो रहा है। निर्माण का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। लॉजिस्टिक के रख-रखाव के लिए भी ड्राइ का निर्माण किया जा चुका है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

सिवान और गोपालगंज का वैक्सीन यहां से होगा सप्लाई

सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया कि जिले में क्षेत्रीय वैक्सीन स्टोरेज रूम का बनाया जा रहा है। यहां पर 9000 लीटर के क्षमता वाला वाल्क-इन-कूलर स्थापित किया जायेगा। इसको लेकर विभाग की ओर से कार्य तेजी से किया जा रहा है। सिवान व गोपालगंज जिले के आवांटित वैक्सीन को सारण में ही रखा जायेगा। क्षेत्रीय वैक्सीन स्टोरेज रूम से ही सिवान व गोपालगंज में टीका का सप्लाई किया जायेगा। सारण प्रमंडल में फिलहाल सारण में ही वाल्क-इन कूलर स्थापित किया जायेगा। जिस वजह से सिवान व गोपालगंज का वैक्सीन भी यहीं पर रखा जायेगा।

कोविड वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क के माध्यम से मिलेगी रियल-टाइम जानकारी

कोविड वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क के जरिए वैक्सीन के स्‍टॉक और डिस्ट्रिब्यूशन की रियल-टाइम जानकारी मिलेगी। किसे वैक्सीन मिली है और किसे नहीं, उसका डेटा भी यहां उपलब्‍ध होगा। वैक्सीन के लिए लोगों को रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसके लिए वेबसाइट जल्द लॉन्च की जाएगी। वहां पर वोटर आईडी, आधार, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, पेंशन डॉक्‍युमेंट जैसे 12 फोटो आईडीज में से एक के सहारे रजिस्‍टर कर पाएंगे। फिर सेंटर पर फोटो आईडी मैच की जाएगी। हेल्‍थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को अस्पताल या क्लिनिक जैसी जगहों पर टीका लगेगा।

एसएमएस के माध्यम से दी जायेगी जानकारी

को-विन पोर्टल से वैक्सीन और लॉजिस्टिक, सत्र स्थल, वैक्सीनेटर और लाभार्थी की सूचना मिलेगी। ‘को-विन’ पोर्टल के माध्यम से रजिस्टर्ड लाभार्थी को वैक्सीनेशन की सूचना उनके मोबाइल पर मैसेज के जरिए प्राप्त होगी। उसमें स्थान, समय, दिनांक, सत्र स्थल और कौन वैक्सीनेटर है, इसकी जानकारी शामिल होगी।