सारण के किसानों को नहीं होगी उर्वरक की कमी, प्रखंडवार होगी समीक्षा: डीएम

0

छपरा: जिलाधिकारी राजेश मीणा के द्वारा समाहरणालय सभाकक्ष में आयोजित जिले में उर्वरक की आवश्यकता एवं उपलब्धता विषय से संबंधित बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि जिले के प्रत्येक प्रखंड में उर्वरक की उपलब्धता की समीक्षा की जाय ताकि किसानों को उर्वरक की कमी न हो सके।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

जिला कृषि पदाधिकारी के द्वारा बताया गया कि जिले में छपरा ग्रामीण, मुजफ्फरपुर, सिवान, आरा, सराय, वैशाली, बापूधाम मोतीहारी रेवले रैक प्वाइंट है। जहाँ से जिला को उर्वरक प्राप्त होता है। उन्होने बताया कि जिला में यूरिया नीम कोटेड-266.50 रु प्रति बोरा, एम0ओ0पी0-1000 रु प्रति बोरा, डी0ए0पी-1200 रु प्रति बोरा की दर निर्धारित है इसके साथ ही अन्य उर्वरकों की निर्धारित दर की भी जानकारी दी गयी। इसी दर पर किसानों को उपलब्ध कराया जा रहा है। कृषि पदाधिकारी के द्वारा बताया गया कि जिला में उर्वरक की कोई कमी नही है।

जिलाधिकारी के द्वारा प्रखंड स्तर पर उपलब्धता की जाँच करते रहने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी के द्वारा बताया गया कि किसानों को उनकी आवश्यकता के हिसाब से ही उनको बीज एवं उर्वरक उपलब्ध कराया जाय। उनके किसी और उर्वरक को खरीदने के लिए विवष नही किया जाना चाहिए।

जिलाधिकारी के द्वारा जिला कृषि पदाधिकारी को यह भी निर्देश दिया गया कि किसानों को अतिशीघ्र बीज एवं उर्वरक उपलब्ध कराया जाय ताकि बोआई का कार्य किसान समय पर कर सके।

बैठक में जिलाधिकारी के साथ उप विकास आयुक्त, जिला कृषि पदाधिकारी, जिला सहकारिता पदाधिकारी एवं कृषि विभाग के अन्य पदाधिकारी के अलावे उर्वरक के थोक विक्रेता भी उपस्थित थे।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here