11 अक्टूबर से चलने वाले पल्स पोलियो अभियान सफल क्रियान्वयन को लेकर कर्मियों को दिया गया प्रशिक्षण

0
video confrensing
  • जूम एप के माध्यम से प्रशिक्षण शिविर का हुआ आयोजन
  • टीका कर्मियों व पर्यवेक्षकों को दिया गया प्रशिक्षण

छपरा: जिले में 11  से 15 अक्टूबर चलने वाले पल्स पोलियो अभियान के सफल क्रियान्वयन को लेकर कर्मियों को प्रशिक्षण दिया गया। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अजय कुमार शर्मा, डब्ल्यूएचओ के एसएमओ डॉ रंजीतेश कुमार यूनिसेफ के एसएमसी आरती त्रिपाठी के द्वारा टीका कर्मियों एवं पर्यवेक्षकों को प्रशिक्षण दिया गया। जूम एप के माध्यम से ऑनलाइन प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण के दौरान जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अजय कुमार शर्मा ने कहा कि अभियान के दौरान किसी भी परिस्थिति में किसी भी क्षेत्र के बच्चे पोलियो खुराक लेने से छूटने नहीं चाहिए तथा इस पर विशेष निगरानी दल गठित कर शत-प्रतिशत बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाना सुनिश्चित किया जाएगा इसके साथ ही सूक्ष्म कार योजना में भी सभी क्षेत्रों को सम्मिलित किया जाए ताकि कोई भी क्षेत्र छूटे नहीं। डीआईओ डॉ अजय कुमार शर्मा ने बताया कि दो पड़ोसी देशों अफगानिस्तान एवं पाकिस्तान में पोलियो वायरस का संक्रमण जारी है एवं वर्ष 2020 में अभी तक अफगानिस्तान में 19 एवं पाकिस्तान में 53 पोलियो के मरीज पाए गए हैं। जब तक विश्व में कहीं भी पोलियो का संक्रमण जारी है। राज्य में पोलियो वायरस के पुनः आने का खतरा बना हुआ है। इस खतरे से बचाव के लिए उच्च गुणवत्ता के पल्स पोलियो अभियान चलाते रहना अत्यंत आवश्यक है।  इसके साथ ही नियमित टीकाकरण के टीके को शत-प्रतिशत लाभार्थियों तक पहुंचाना भी आवश्यक है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
Webp.net-compress-image
a2

इन स्थानों पर रहेगी विशेष नजर

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अजय कुमार शर्मा ने बताया कि अभियान के दौरान दूरदराज के क्षेत्र ईट भट्ठा प्रवासी एवं भ्रमण शील आबादी वाले क्षेत्र पर विशेष रूप से ध्यान दिया जाएगा । यहां के बच्चे पोलियो की खुराक लेने से वंचित ना रहे इसके लिए विशेष निगरानी दल गठित किया जाएगा।

11 से 15 अक्टूबर  व 29 नवंबर से 3 दिसंबर तक चलेगा पोलियो अभियान

ऑनलाइन प्रशिक्षण में डब्ल्यूएचओ के एसएमओ डॉ रंजीतेश कुमार ने बताया कि जिले में 11 से 15 अक्टूबर 2020 एवं 29 नवंबर से 3 दिसंबर तक पल्स पोलियो अभियान चलाया जाएगा। अभियान के दौरान नवजात शिशु को पोलियो की खुराक पिलाए जाने पर विशेष ध्यान दिया जाए एवं खुराक पिलाने के पश्चात नियमित टीकाकरण के ड्यू लिस्ट में समाहित किया जाएगा। सभी दल कर्मियों के पास पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाएगी। मुख ट्रांजिट स्थलों जैसे बस स्टैंड रेलवे स्टेशन एवं चौक चौराहों से गुजरने वाले बच्चों पर विशेष ध्यान देते हुए प्रतिरक्षण सुनिश्चित किया जाए। ट्रांजिट स्थलों पर प्रशिक्षित टीका कर्मियों को ही कार्य पर लगाया जाएगा।

कोविड-19 से बचाव के लिए जारी प्रोटोकॉल का करना होगा पालन

प्रशिक्षण में जानकारी देते हुए यूनिसेफ के जिला समन्वयक आरती त्रिपाठी ने कहा कि पोलियो अभियान के दौरान सभी टीकाकर्मी दल को आवश्यक मात्रा में मास्क, ग्लब्स एवं सैनिटाइजर उपलब्ध कराया जाएगा। अभियान के दौरान सभी कर्मियों को कोविड-19 से बचाव के लिए जारी दिशानिर्देशों का अनिवार्य रूप से पालन करना आवश्यक है। सभी कर्मियों को मास्क का प्रयोग, ग्लब्स, सैनिटाइजर का प्रयोग करने के लिए दिशा निर्देश दिया गया।