वीएचएसएनसी सदस्यों और पंचायत प्रतिनिधियों के भूमकाएँ और जिम्मेदारियों पर दिया जाएगा प्रशिक्षण

0
parsichan
  • ऑनलाइन दिया जाएगा प्रशिक्षण
  • कोरोना संकट के बीच आरोग्य दिवस के सभी सेवाओं को किया गया नियमित
  • कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने में वीएचएसएनसी निभा सकती है महत्वपूर्ण भूमिका

छपरा: कोविड-19 संक्रमण के दौरान आरोग्य दिवस के आयोजन एवं संक्रमण के प्रसार और रोकथाम के लिए पंचायत प्रतिनिधियों वीएचएसएनसी( विलेज हेल्थ, न्यूट्रिशन एंड सैनिटेशन कमिटी) के सदस्यों की भूमिकाएं एवं जिम्मेदारियां विषय पर ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने सभी सिविल सर्जन को पत्र लिखकर आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया है। जारी पत्र में बताया गया है कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत एडवाइजरी ग्रुप ऑन कम्युनिटी एक्शन के द्वारा कोविड-19 संक्रमण के दौरान आरोग्य दिवस के आयोजन एवं वीएचएसएनसी की बदलती भूमिका पर ऑनलाइन प्रशिक्षण आयोजित किया जाएगा। प्रशिक्षण के अंतर्गत कोविड-19 के संक्रमण की स्थिति में योग दिवस के आयोजन एवं भी एचएसएनसी की भूमिका के संबंध में प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। प्रशिक्षण के प्रथम चरण में जिला स्तर पर कार्यरत जिला समुदायिक उत्प्रेरक एवं द्वितीय चरण में प्रखंड सामुदायिक उत्प्रेरक को प्रशिक्षण दिया जाएगा। कोविड-19 महामारी के दौरान रोग दिवस पर सभी सेवाओं को नियमित किया गया है। अतः इस महामारी को देखते हुए आरोग्य दिवस सत्र स्थल पर बेहतर प्रबंधन एवं सेवा प्रदाता और लाभार्थियों को संपूर्ण सुरक्षा देते हुए आरोग्य दिवस संचालित किए जाने की आवश्यकता है। यह दिशानिर्देश समुदाय और स्तर पर कोविड-19 प्रसार के जोखिम को कम करने में मदद करेगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads
adssss

पंचायत प्रतिनिधियों और वीएचएसएनसी के सदस्यों की भूमिका एवं जिम्मेदारियां

ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को रोकने में वीएचएसएनसी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है। इसके लिए भूमिका का विस्तार किया जा रहा है। पंचायत प्रतिनिधियों एवं वीएचएसएनसी के सदस्यों के द्वारा समुदाय को कोविड-19 के संक्रमण की वर्तमान स्थिति और उसके रोकथाम के उपायों के बारे में जागरूक किया जाएगा। यह सुनिश्चित करना कि समुदाय एवं सेवा प्रदाता के द्वारा कोविड-19 के रोकथाम से संबंधित उपायों को पालन किया जा रहा है। कोविड-19 संक्रमण से संबंधित भ्रांतियों के बारे में ग्रामीणों को जागरूक किया जाएगा तथा उसके विरुद्ध आवश्यक सुरक्षात्मक उपायों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। निगरानी पत्र के माध्यम से समुदाय अस्तर की स्थिति से प्रत्येक 15 दिनों के अंतराल पर वीएचएसएनसी सदस्यों द्वारा भरा जाना चाहिए। जिससे स्थानीय स्तर पर योजना के निर्माण और समस्याओं के निवारण में सहायता मिलेगी। समिति को अपने कार्य का विस्तार करते हुए स्थानीय स्तर पर कोविड-19 से संबंधित भ्रांतियों के प्रति लोगों को जागरूक किया जाएगा। होम क्वॉरेंटाइन सरकारी आइसोलेशन में रहने वाले लोगों की मदद करना होगा। कोविड-19 के दौरान क्या करें, क्या नहीं करें के संबंध में व्यापक प्रचार प्रसार में सहयोग करना होगा।

पीआरआई और वीएचएसएनसी सदस्य कोविड-19 के रोकथाम में करेंगे सहयोग

  • कोविड19 पर सभी सदस्यों की समाज को बढ़ावा बढ़ाना और उन्हें जागरूक करना जिसमें लोगों को कोई 19 के संक्रमण के दौरान क्या करें क्या नहीं करें रोग के लक्षण बिना लक्षण वाले लोगों का प्रबंधन, कोविड 19 पॉजीटिव केस, प्रवासी मजदूर, क्वॉरेंटाइन एवं आइसोलेशन केंद्र से संबंधित भ्रांतियों को दूर करना
  • प्रत्येक लाभार्थी नामित एवं विशिष्ट आमंत्रित सदस्य महिला समूह के सदस्य और मनरेगा समन्वयक आदि की भूमिका एवं उनसे अपेक्षित सहयोग का निर्धारण करना। ताकि प्रत्येक लाभार्थी कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम के लिए योगदान दे।
  • आरोग्य दिवस सत्र का प्रबंधन और रखरखाव जैसे सैनिटाइजेशन धुलाई और सत्र में भाग लेने वाले लोगों का प्रबंधन करना
  • गरीब परिवारों के लिए सैनिटाइजर और फेस मास्क उपलब्ध कराना
  • शारीरिक दूरी का पालन करने के लिए सत्र स्थल और सार्वजनिक स्थानों पर गोला बनाकर सीमा का निर्धारण करना
  • आर्थिक रुप से कमजोर परिवार जो घर पर क्वारेंटिंन में है उनको सरकारी एवं सामुदायिक सहभागिता से सहायता प्रदान करना ताकि वे अपना देखभाल अच्छे से कर सके
  • बुजुर्ग और क्षयरोग, मधुमेह, डायलिसिस, कैंसर आदि जैसे गंभीर मरीजों का विशेष ध्यान देना
  • आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने को बढ़ावा देना
  • जो व्यक्ति कोविड-19 से संक्रमित थे लेकिन अब ठीक हो गए हैं उनकी देखभाल और लोगों के भ्रांतियों को दूर करने में मदद करना उनके प्रति सकारात्मक छवि बनाना

आरोग्य दिवस का आयोजन

रोग दिवस सत्र स्थल पर अधिकतम 4 से अधिक लाभार्थियों को आने की अनुमति नहीं दी जाएगी और उन्हें कम से कम 2 मीटर की दूरी बनाए रखने आरोग्य दिवस सत्र स्थल पर अधिकतम चार से अधिक लाभार्थियों को आने की अनुमति नहीं दी जाएगी और उनका कम से काम दो मीटर की दूरी बनाए रखने के लिए प्रेरित किया जाएगा। लाभार्थी और उनके सहयोगी को कम से कम 20 सेकंड तक हाथ धोने के बाद ही आरोग्य दिवस सत्र स्थल में प्रवेश करना चाहिए। लाभार्थी और उनके सहयोगी को चेहरे पर मास्क का उपयोग करना अनिवार्य होगा । एएनएम आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को पूरे आरोग्यव सत्र के दौरान चेहरे पर मास्क लगाकर रहना होगा। आरोग्य दिवस पर आने वाले लाभार्थियों को कोविड-19 से बचने के बारे में जानकारी दी जाएगी। जैसे- शारीरिक दूरी ,नियमित रूप से हाथ धोना, चेहरे पर मास्क का उपयोग करने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

एएनएम के लिए निर्देश

  • प्रत्येक प्रसव पूर्व जांच से पहले नए सर्जिकल दस्ताने का उपयोग करें
  • तीव्र परीक्षणों -रक्त और मूत्र परीक्षण के दौरान अतिरिक्त सावधानी बरतें
  • प्रत्येक लाभार्थी के बाद बीपी मशीन,फिटोस्कोप , स्टेथोस्कोप, वजन मशीन तथा अन्य उपयोग किए गए सामग्रियों सहित अपने हाथों को भी कीटाणु रहित करें
  • वैक्सीन कैरियर बॉक्स को कीटाणु रहित और जैव चिकित्सा अपशिष्ट ओ का निपटान अच्छी तरीके से किया जाना चाहिए